बरहट : दस हजार रुपये नहीं देने पे ससुराल वालों ने 3 महीने की गर्भवती बहु की हत्या कर दी एवं शव को फंदे से लटका कर आत्महत्या का रुप देने की कोशिश की गई। हालांकि यह पुलिस अनुसंधान के विषय है।
मामला बरहट थाना क्षेत्र के तेतरिया गांव से जुड़ा है। जबकि घटना परालीया कोनियारील बंगाल में घटा है । मृतका के पिता रंजन मंडल ने बंगाल के परालीया कोनियारील थाना में आवेदन देकर मृतका के पति पिंटू रावत,सास शोभा देबी ,भैंसुर टिंकल राबत, नन्दोसी शम्भू राबत ,कुंदन राबत ,जयराम राबत,पंकज राबत नन्द सरिता देबी,रीता देबी ,लाली देबी चुन्नी देबी भांजा नितेश कुमार पर अपनी बेटी की हत्या कर दिए जाने का आरोप लगाते हुए केंदा स्थानीय थाने में आवेदन दिया है। मृतका सोनी देवी के पिता रंजन मंडल ने बताया कि बरहट में मेरी बेटी का ससुराल है मेरी बेटी अपने पति के साथ परालीया कोनियारील बंगाल में रह रही थी यह घटना सत्रह सितंबर शुक्रवार की है जबकि हमलोगों को 18 सितंबर शनिवार की सुबह में सूचना मिली तो हम लोग बेटी के घर परालीया कोनियारील बंगाल पहुँचे तो देखा कि बेटी फंदे से झूली हुई है और घर से सभी लोग फरार हो गये हैं।

हमलोगों ने इसकी सूचना स्थानीय थानों को दिए तब मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया वहीं आज सुबह जैसे ही मृतका सोनी के शव ससुराल बरहट के तेतरिया गांव लेकर परिजन पहुंचे। परिजन दहाड़ मार कर रोने लगे और पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया। जबकि सोनी का शव गांव आने से पहले ही यहां रह रहे ससुराल वाले तेतरिया गांव छोड़ फरार हो गये जिसे देख परिजन सोनी के शव को आरोपी पति के घर के सामने रख कर न्याय दिलाने की मांग करने लगे। वहीं मृतक के पिता ने बताया कि इसी बर्ष 2 जुलाई को हिंदू रीति रिवाज से तेतरिया निवासी यदुनंदन रावत के पुत्र पिंटू रावत के साथ शादी हुआ था। शादी होने के कुछ दिन बाद दमाद पिंटू रावत के पिता का निधन हो गया यदुनंदन रावत कोल्डफील्ड में नौकरी करते थे। पिता की मौत के बाद पिंटू रावत अपने पत्नी सोनी देबी को लेकर पिता के क्वाटर परालीया कोनियारील बंगाल में रह रहने लगा।

फाइल फोटो

कुछ दिनों के बाद पिंटू रावत ने अपनी पत्नी से कहा कि पिता का नौकरी मेरे नाम से हो जाएगा जिसके लिए तुम 50 हजार रुपया मायके से लाकर दो, सोनी ने अपने मायके वालों से पच्चास हजार रुपये ले जाकर अपनी पति को दिया ताकि पति को नौकरी लग पाय। मृतका का पिता रंजन मंडल ने कहा कि पचास हजार रुपये देने के कुछ दिन बाद फिर दस हजार रुपये की मांग पिंटू रावत करने लगा । यह बात फिर मृतका सोनी अपने मायके वालों को को बताई मृतका के पिता के पास दस हजार रुपये नहीं रहने कारण सोनी अपने पति पिंटू रावत को पैसा नही दे पाई और पति नाराज हो गया। और पिंटू ने अपने परिवार के साथ मिलकर सोनी को मार कर फंदे से झूला दिया। आज सोनी के शव को परिजन तेतरिया गांव लेकर आये।
सूचना पाकर पहुंचे बरहट थाना अध्यक्ष चितरंजन कुमार ने परिजनों को समझा-बुझाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here