भारत मे शिक्षा के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य के लिए राष्ट्रमंडल विश्विद्यालय, टोंगा से श्री संजीव सिन्हा जी को Honorary Doctorate degree in education दिया गया

शिक्षा के क्षेत्र मे लगातार 18 वर्षों से एक अलग पहचान स्थापित करने के लिए श्री संजीव सिन्हा झारखंड मे एक ब्रांड हैं और कमज़ोर से कमज़ोर विद्यार्थियों को भी प्रोत्साहित कर,उनसे जुड़ कर, उनके साथ कड़ी मेहनत कर प्रतिष्ठित सरकारी नौकरी दिलाने के कार्य करना उनकी पहचान है

इसी से प्रभावित हो कर राष्ट्रमंडल विश्वविद्यालय ने honorary Degree श्री सिन्हा को देने का निर्णय लिया
ये विश्वविद्यालय भारत के नामी गिरामी व्यक्तियों को समय समय पर उनके विशिष्ट पहचान के लिए, Doctorate की डिग्री देते आयी है
इस बीच शाक्षी सिन्हा ने कहा की सजीव सिन्हा सिर्फ शिक्षा जगत में नहीं बल्कि हर क्षेत्र में अपने आप को बहुत ही अच्छी तरह से निखार लाए हैं। इस बीच परिणय् कुमार सिन्हा ने कहा है कि अगर हर शिक्षक इसी तरह अपने कर्तव्यों का निर्वाहन करते रहा तो एक दिन झारखंड नया इतिहास लिखा जाएगा। यह हम सबके लिए बहुत गौरव की बात है इस बीच अमृता सिंह ने कहा है कि संजीव सिन्हा लगातार शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा जरूरतमंदों को एक बेहतर शिक्षा देते आए हैं।
वही मौके पर अनुपम सिंहा और सौरव सिन्हा ने कहा है कि यह उनका कठिन मेहनत और परिश्रम का ही नतीजा है कि उन्हें हाल ही में सरस्वती सम्मान तथा इस बार डॉक्टरेट की उपाधि मिली है हम सब ऐसे शिक्षक को पाकर बहुत ही गौरव महसूस कर रहे हैं मौके पर आर्य सिन्हा आदर्श सिन्हा मौजूद थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here