श्रीनगर : दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में शुक्रवार को आतंकी हमले में एक सीआरपीएफ जवान जख्मी हो गया। हमले के बाद भाग निकले आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने सघन तलाशी अभियान चलाया गया है। बताया जाता है कि पुलवामा के नेवा इलाके में सीआरपीएफ की 183वीं वाहिनी और पुलिस के जवानों का एक संयुक्त शिविर है। शाम को सूर्यास्त के बाद आतंकियों ने इसी शिविर पर हमला करते हुए एक निकटवर्ती बाग से फायरिंग की।
फायरिंग में शिविर के बाहर खड़े जवानों में शामिल कांस्टेबल इंद्र कुमार निवासी राजस्थान गोली लगने से जख्मी हो गए। अन्य जवानों ने तुरंत जवाबी फायर किया। इसके बाद आतंकी वहां से भाग निकले। घायल जवान को अस्पताल पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए सीआरपीएफ और पुलिस के जवानों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। अस्पताल में घायल जवान का उपचार कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि उसके पैर में गोली लगी है। जवान की हालत स्थिर व खतरे से बाहर है।


आज ही जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस से प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर में दच्छन के जंगलों में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद शुक्रवार की सुबह इलाके को घेरकर तलाशी अभियान शुरू किया। तलाशी के दौरान ही आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चला दीं जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई जिसमें दो आतंकी मारे गए।


बताया जाता है कि इन आतंकियों ने ही किश्तवाड़ से 80 किलोमीटर दूर दच्छन इलाके के टंडर गांव में जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी जवानों पर जानलेवा हमला किया था। ये आतंकवादी पिछले पांच दिनों से दच्छन-टंडर के ऊपरी इलाकों के जंगलों में छिपे हुए थे। यही नहीं इन हमलावरों को ढूंढने के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसओजी, सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त दल पिछले चार दिनों से सर्च आपरेशन जारी रखे हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here