• जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन की बैठक में माननीय मंत्री श्री बादल, देवघर विधायक श्री नारायण दास व सारठ विधायक श्री रणधीर सिंह भी रहे मौजूद
  • सकारात्मक सोच के साथ जमीनी स्तर पर करें कार्य
  • जिले में ससमय योजनाओं के क्रियान्वयन व पारदर्शिता का रखें विशेष ध्यान
  • प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मी संवेदनशील होकर अंतिम पायदान के अंतिम व्यक्ति को योजनाओं से करें लाभान्वित
  • जिला बीच सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति की बैठक में अधिकारियों को दिये गये आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश

देवघर। 05.01.2023 को विकास भवन के सभागार में चम्पई सोरेन, मंत्री, अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं परिवहन विभाग, झारखंड सरकार सह अध्यक्ष देवघर जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की अध्यक्षता में जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठक का आयोजन किया गया।

इससे पूर्व उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री ने मंत्री चम्पई सोरेन, माननीय मंत्री बादल का स्वागत किया। साथ ही वरीय अधिकारियों द्वारा विधायक देवघर नारायण दास, माननीय विधायक सारठ रणधीर सिंह, बीस सूत्री के उपाध्यक्ष मुन्नम संजय व बीस सूत्री के सभी सदस्यों को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

 

इसके अलावे बैठक के दौरान माननीय मंत्री सह अध्यक्ष श्री चम्पई सोरेन ने आयोजित जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठक में सभी का स्वागत करते हुए कहा कि दो वर्षों से कोरोना संक्रमण की वजह से बैठक का आयोजन नहीं हो सका। ऐसे में आज तीसरे साल की पहली बैठक हो रही है, कोरोनाकाल में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने बढ़िया तरीके से अच्छा काम किया है। इसके लिए सभी को बधाई व शुभकामनाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि ससमय योजनाओं को पूर्ण करते हुए अंतिम पायदान के अंतिम व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिलता रहे यह सुनिश्चित करें। सकारात्मक सोच के साथ जमीनी स्तर पर मिलकर कार्य करें, ताकि राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ सुयोग्य लोगों को मिलता रहे। बैठक के दौरान बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के द्वारा विगत बैठक में दिए गए निदेश के अनुपालन सहित विभिन्न विभागों यथा मनरेगा, जेएसएलपीएस, कृषि, उद्यान, श्रम, आपूर्ति, पीएम आवास, पीएचईडी, स्वास्थ्य, शिक्षा, समाज कल्याण, नियोजन, नगर निगम, वन प्रमंडल, सामाजिक सुरक्षा, पथ प्रमंडल, विद्युत, विशेष प्रमंडल, भवन प्रमंडल, उद्योग, पर्यटन, योजना, सांख्यिकी, गव्य, खनन, उत्पाद, परिवहन, भूमि संरक्षण, पशुपालन, भू अर्जन सहित अन्य विभागों से प्राप्त प्रतिवेदनों की बिन्दुआर समीक्षा करते हुए माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। साथ ही बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के सदस्यों द्वारा विभिन्न सुझावों व समस्याओं को संज्ञान में लेते हुए माननीय मंत्री सह अध्यक्ष श्री चम्पई सोरेन ने अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया।

इसके अलावे बैठक के दौरान मनरेगा के तहत चल रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए सदस्यों द्वारा सुझावों पर संज्ञान लेते हुए माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने भुगतान में हो रही देरी के अलावा चल रहे कार्यों में पारदर्शिता बरतने की बात कही। आगे उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य और उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार प्रदान करना है। साथ ही बैठक के दौरान विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा के दौरान बिजली का बिल ज्यादा आना, बिजली बिल के नाम पर जुर्माना वसूलना आदि बिंदुओं पर समीक्षा करते हुए जिले में बिजली वितरण की व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने के अलावा ऐसे मामलों से जुड़े समस्याओं का निराकरण करने का निर्देश माननीय अध्यक्ष के द्वारा जिले में विद्युत प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को दिया गया। आगे बैठक के दौरान विकास की महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई जिसमें शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पेयजल, खेती एवं सिंचाई, मनरेगा, रोजगार, पेंशन, श्रम आदि से जुड़े मामलों की वास्तुस्थिति से माननीय मंत्री अवगत हुए।

 

बैठक के दौरान जिला बीस सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन की बैठक में शिक्षकों की नियुक्ति की बिंदु पर चर्चा करते हुए जल्द से जल्द रिक्तियां भरने का निर्देश माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने दिया। साथ ही बैंकों द्वारा केसीसी एवं रोजगार सृजन से जुड़े मामलों में ऋण न देने से जुड़े बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए एलडीएम को आवश्यक निर्देश दिया गया। वहीं उपायुक्त ने कार्य में स्थिलता व खराब प्रदर्शन करने वाले बैंकों की सूची उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करने का निदेश दिया, ताकि ऐसे बैंकों के विरूद्ध भारत सरकार के वित विभाग को पत्राचार किया जा सके।

जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन की बैठक में कृषि से जुड़े कार्यों की समीक्षा के अलावा बीज वितरण को लेकर माननीय मंत्री श्री बादल द्वारा जानकारी दी गयी कि झारखण्ड में पहली बार पर्याप्त मात्रा में उन्नत बीज 90 प्रतिशत अनुदान की राशि पर उपलब्ध कराया गया है। किसानों की समस्या को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा 90 प्रतिशत अनुदान पर बीज दिया जा रहा है। इस कड़ी में झारखंड सरकार राज्य में सूखे की मार झेल रहे किसानों को 3500 रुपए की राहत राशि दी जा रही है। झारखंड सरकार ने राज्य के 22 ज़िलों के 226 प्रखंडो को सूखाग्रस्त घोषित किया है। जिसके तहत इन ज़िलों के किसानों को यह सहायता राशि दी जा रही है। आगे उन्होंने बताया कि राज्य सरकार बीज वितरण में 90 फ़ीसदी और 100 फीसदी अनुदान दे रही है। इस बार हमने 80 हजार क्विंटल बीज वितरण किया है, जो कि एक रिकॉर्ड है। बीज वितरण के काम में एफपीओ को लगाया गया, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। बैठक में आगे कृषि क्षेत्र में जमीन, तालाब जीर्णाेधार, जल निधि योजना, डिप बोरिंग, मिनी ट्रेक्टर के साथ अन्य उपकरणों का वितरण में जेएसएलपीएस एवं नाबार्ड द्वारा जारी किए गए आवेदन को प्राथमिकता देने की बात कही गयी। आगे बैठक के दौरान बालू उठाव की वर्तमान स्थिति के चलते प्रधानमंत्री आवास योजना एवं घर बनाने हो रही समस्या पर संज्ञान लेते हुए माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने संबंधित अधिकारी को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया।

 

बीस सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति की बैठक में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन ने स्वास्थ्य विभाग को दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सरकार अलर्ट पर है। उन्होंने सदर अस्पताल में बेड, डॉक्टर्स, दवाओं, ऑक्सीजन सहित अन्य जरूरी मेडिकल उपस्करों की उपलब्धता एवं क्रियाशीलता को लेकर जानकारी ली एवं सभी सुविधाएं दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। वहीं माननीय मंत्री ने डॉक्टर्स की कमी को संज्ञान में लेते हुए इस कमी को शीघ्र पूरा करने का आश्वासन दिया। इसके अलावे बैठक के दौरान आगामी श्रावणी मेले को लेकर कावरियों की सुविधा हेतु वैकल्पिक मार्ग का चौड़ीकरण एवं उचित व्यवस्था पर चर्चा की गयी। साथ ही कावरियों के ठहराव के लिए अलग व्यवस्था की मांग की गई जिससे मेले के चलते विद्यालयों एवं अन्य सरकारी भवनों पर प्रभाव ना पड़े। साथ ही पुराने सदर अस्पताल परिसर को ट्रामा सेन्टर के रूप में उपयोग में लाने की बात कही गयी।

इसके अलावे जिला बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन की बैठक में देवघर विधायक श्री नारायण दास, सारठ विधायक श्री रणधीर सिंह ने अपने-अपने सुझावों व समस्याओं को बैठक में रखा जिस पर संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा आवश्यक जानकारी उपलब्ध करायी गयी। साथ ही विभिन्न मामलों पर संज्ञान लेते हुए माननीय मंत्री सह अध्यक्ष श्री चम्पई सोरेन ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। इसके अलावे बैठक के दौरान जिला परिषद, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, भवन प्रमंडल आदि के तहत संचालित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश अधिकारियों को माननीय मंत्री श्री चम्पई सोरेन द्वारा दिया गया।

बैठक के दौरान उपरोक्त के अलावा उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री, पुलिस अधीक्षक श्री सुभाष चन्द्र जाट, नगर आयुक्त श्री शैलेन्द्र कुमार लाल, अपर समाहर्ता श्री चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, सिविल सर्जन श्री युगल किशोर चौधरी, डीआरडीए निदेशक श्री परमेश्वर मुण्डा, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री अमित कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी श्री शैलेन्द्र कुमार रजक, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, कार्यपालक अभियंता पथ प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता राष्ट्रीय उच्च पथ प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल देवघर व मधुपुर, कार्यपालक अभियंता विद्युत आपूर्ति प्रमंडल, कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल, प्रभारी पदाधिकारी गोनीय शाखा, जिला खनन पदाधिकारी, जिला खेल पदाधिकारी, जिला मत्सय पदाधिकारी, जिला प्रबंधक जेएसएलपीएस, डीसी सेल के प्रतिनियुक्त अधिकारी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी, जिला स्तरीय विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मी सहित अन्य संबंधित जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.