पटना। जदयू के प्रदेश मुख्यालय प्रभारी महासचिव श्री चंदन कुमार सिंह ने कहा कि भाजपा पहले चिराग मॉडल के साथ आई, और अब वोट कटवा मॉडल के सहारे अपनी नैया पार करवाने में लगी है। गोपालगंज की सीट भाजपा ने जमीनी लड़ाई लड़ कर नही बल्कि तिकड़मबाजी करके जीती है। जीत के मार्जिन, और वोट शेयरिंग से ही पता लग जा रहा कि कैसे भाजपा ने वोटकटवा मॉडल से महागठबन्धन के उम्मीदवार को हराया।

 

और वैसे भी इस सीट पर पूर्व दिवगंत विधायक जी के प्रति सहानुभूति की लहर भी थी। सुशील मोदी कहते फिरते है कि बिहार में सरकार विरोधी माहौल है, अगर ये रहत तो मोकामा की सीट पर महागठबन्धन नही जीतता, जबकि भाजपा ने इसी को मुद्दा बनाया था। सुशील मोदी का गणित गड़बड़ है, यही कारण है कि अपनी पार्टी में अब इनकी कोई पूछ नही रही। इन्हें यह जान लेना चाहिए कि अब कितना भी गुना-भागा कर ले 2024 में इनके सारे मॉडल ध्वस्त होंगे और जनता का मॉडल ही सफल होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.