गुड़गांव: पालम विहार के सेक्टर 22 में एक निर्माणाधीन मकान के अंदर सो रहे प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। कार में सवार होकर आए दो युवकों ने इस वारदात को अंजाम दिया। वारदात के दौरान केयर टेकर भी वहीं पर था। उसी ने मृतक के घरवालों को घटना की सूचना दी। वारदात के बाद आरोपी वहां से कार से ही फरार हो गए। सूचना पाकर डीसीपी, एसीपी और क्राइम ब्रांच की टीमें मौके पर पहुंचीं। रविवार शाम शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया। पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पालम विहार थाना पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच की टीमें इस मामले की जांच कर रही हैं। आपसी रंजिश या प्रॉपर्टी विवाद समेत दूसरे एंगल से इस मामले की जांच की जा रही है।

 

कार से आए थे बदमाश
डूंडाहेड़ा गांव निवासी 40 वर्षीय धर्मेश यादव प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था। वह फ्लोर बनाकर उसे बेचने का भी काम करता था। उसने अब सेक्टर 22 के प्लॉट नंबर 465 पर एक बिल्डिंग बनाने का काम शुरू किया था। कई माह से यह काम चल रहा था। यहां पर कुछ दिन से लेबर नहीं होने के कारण गार्ड ने अपने मालिक से कहा कि उसे रात को डर लगता है। वह भी उसके साथ सोया करें। इसके बाद तीन दिन से धर्मेश भी अपनी साइट पर सो रहा था। पुलिस के मुताबिक रात करीब दो बजे एक ग्रे कलर की कार में दो युवक इस साइट पर पहुंचे। इन्होंने साइट के सामने ही कार खड़ी की। बताया जा रहा है कि दोनों ने नकाब पहन रखा था। इसके बाद दोनों अंदर गए। यहां पर चादर में मुंह ढक कर सो रहे धर्मेश के सिर में दो गोली मार दी। इस वारदात के दौरान गार्ड भी वहीं पर था। इसके बाद वह लोग वहां से कार लेकर फरार हो गए। कार ग्रे कलर की और बिना नंबर प्लेट की थी।

थाना पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच को केस की जांच में लगाया गया है। आरोपी ग्रे कलर की बिना नंबर की स्विफ्ट कार में आए थे। सीसीटीवी फुटेज में कार दिखी है। शव को पोस्टमॉर्टम के बाद घरवालों को सौंप दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
दीपक सहारण, डीसीपी वेस्ट

सीसीटीवी फुटेज में दिखी कार
इस साइट के सामने मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कार की फुटेज आई है। गार्ड ने इस वारदात के बाद मृतक के परिजनों को इसकी सूचना दी। मृतक के परिजनों ने मौके पर पहुंचकर देखा तो धर्मेश लहूलुहान पड़ा था और उनकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद मृतक के परिजन पालम विहार थाने गए। यहां पर पुलिस को इसकी सूचना दी। घरवालों का आरोप है कि सूचना के बाद काफी देर बाद पुलिस आई। डीसीपी वेस्ट के अलावा पालम विहार और बजघेड़ा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। क्राइम ब्रांच को भी मौके पर बुलाया गया। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की लेकिन परिजनों ने शव को पुलिस के कब्जे में देने और शिकायत करने से इनकार कर दिया।

 

मृतक के चाचा गजराज सिंह ने बताया कि उनको हत्या की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे। थाने में जब सूचना दी तो वहां मौजूद दो कर्मचारियों ने पीसीआर पहुंचने की बात कही। उनके भतीजे के साथ सोए गार्ड ने पुलिस को अपना बयान दिया है। पुलिस के समझाने के बाद परिजनों ने रविवार दोपहर बाद शिकायत दी। मृतक के पिता की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.