मोहनपुर : लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा को लेकर रविवार को विभिन्न गांव के नदियों और तालाबों के छठ घाटों पर श्रद्धालुओं का रेला उमड़ पड़ा। छठ व्रती महिलाओं ने घुटने भर पानी में खड़ा होकर अस्ताचलगामी अर्ध्य यानी डूबते भगवान भास्कर को प्रथम अर्घ्य दिया। छठ व्रत रखने वाली महिला विभिन्न प्रकार के पकवान बनाए गए और एक बड़े पात्र में रखा गया।

 

सुबह से ही निर्जल रहकर स्नानादी और श्रृंगार का महिलाएं परिवार के लोगों के साथ छठ घाटों पर पहुंची दीप प्रज्वलित कर छठ मैया की पूजा की गई इसके बाद दीप गंगा मैया और एक दीप भगवान भास्कर को अर्पित किया गया । यह सब करने के बाद महिलाएं नदी तालाब और पोखरा में घुटनों भर पानी में जाकर खड़ी हो गई भगवान भास्कर के डूबने परअर्ध्य दिया गया इसके बाद वरती महिलाएं परिवार सदस्यों के साथ घर लौट आए।

 

ठाडियारा, पेसारधह, मोहनपुर रिखिया सहित विभिन्न इलाकों में छठ घाटों पर छठ बरतिया महिलाओं ने डूबते सूरज को अर्घ्य गया यहां मेले जैसा दृश्य देखने को मिला। बताते चलें वही अगले दिन सोमवार को अहले सुबह उगते भगवान भास्कर को अर्घ्य के साथ लोक आस्था का महापर्व समाप्त हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.