रानीश्वर: रविवार को संथाल परगना, दुमका जिला, रानीश्वर प्रखंड के सिदो- कान्हू मुर्मू चौक में प्रखंड अध्यक्ष बार्नाड हांसदा के अध्यक्षता में कुर्मी महतो जाति को अनुसूचित जनजाति (एसटी) बनाने की अनुशंसा करने वाले झारखंड के जेएमएम, उड़ीसा के बीजेडी, बंगाल के टीएमसी और कांग्रेस आदि पार्टीयों का पुतला दहन राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद सलखान मुर्मू के आह्वान पर पांच प्रदेशों झारखंड ,बंगाल बिहार ,उड़ीसा और असम में इन पार्टियों के साथ-साथ तमाम उन आदिवासी एमएलए/ एमपी और आदिवासी संगठनों का भी पुतला जलाया गया जो कुरमी के समर्थन में खड़े हैं या चुप हैं।

 

आदिवासी अस्तित्व और अस्मिता राक्षार्थ इस जीवन रक्षा महायुद्ध में सभी आदिवासी को सामने आने की जरूरत है। दुर्भाग्य जेएमएम और उसके अंधभक्त अबतक चुप हैं। ज्ञातव्य हो कि केंद्र की बीजेपी सरकार ने हाल में कुरमी छोड़ अन्य 12 जातियों को ST की सूची में शामिल किया। अर्थात बीजेपी की नजर में अभीतक कुरमी ST नहीं हैं।आदिवासी सेंगेल अभियान के अनुसार कुर्मी महतो जाति को एसटी बनने और बनाने का ज्वलंत मुद्दा आदिवासियों को जगाने,जोड़ने और आदिवासी विरोधी पार्टियों को बेनकाब कर उनसे अलग करने का एक निर्णायक अवसर है। उम्मीद है आदिवासी बिरोधी जेएमएम पार्टी और भ्रष्टाचार आरोपित सोरेन खानदान का पतन होगा।

 

अन्यथा असली आदिवासी का उत्थान असंभव है। जे एम एम और उनके समर्थकों को अब प्रमाणित करना होगा कि वे वृहत झारखंडी आदिवासियों के साथ खड़े हैं या केवल वोट और नोट की राजनीति करते हैं। सेंगेल झारखंड को “अबोआग दिशोम आबोआग राज” बनाने के लिए कृतसंकल्पित है। इस मौके पर विनोद मुर्मू, अमर मरांडी, निखिल मुर्मू, शिवराम मुर्मू महिला मोर्चा अध्यक्ष सिवाली मुर्मू ,सिमल हेम्ब्रम, बहादुर मुर्मू मिरू मुर्मू, हरीदास हंसदा, सबरी हेम्बरोम, जोबा मुर्मू, कलावती बास्की, रुपलाल हेम्बरोम, लगेन सोरेन,आदि महिला व पुरुष मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.