• रिखिया थाना क्षेत्र : अवैध शराब की भठ्ठी बन रहा राहगीरों के जी का जंजाल
  • लकड़ीगंज, अमगढ़िया, मल्हारा, बंधा, रामपुर फील्ड में खुलेआम शराब बेचते हैं
    शराबी करते हुड़दंग, आवागमन करने से कतराते लोग

देवघर। रिखिया थाना क्षेत्र में चलने वाले अवैध देशी शराब की भट्ठी राहगीरों के लिए जी का जंजाल बना हुआ है। सरेआम बिकने वाले शराब को पीकर शराबी राहगीरों को परेशान करते हैं। शराबी शराब पीकर मचाते हैं हुड़दंग, जिस से राजगीर आने जाने से इस इलाके में डरते हैं। महुआ का अवैध भट्टी कई गांव में चला रहे हैं और दुकान में ले जाकर या फिर रोड पर बेफिक्र होकर बेचते हैं। प्रशासन का कोई डर तक नहीं रहता हैं। इलाके के कई जगह पर शराब बेचे जाते हैं। थाना से सटे गांव अंगिया गांव में शराब की भट्टी चलाता हैं एवं शराब बेचे जाते हैं। जहां ग्रामीणों को शराबियों से काफी परेशानियां होती है।
बारा गांव में हर रोज सैकड़ों बोतल शराब तैयार कर बेचे जाते हैं। गांव में शराब पीकर गाली गलौज करते हैं एवं बच्चे के भविष्य से खिलवाड़ करते हैं। आगे चलकर बच्चे इसी तरह करेंगे।

 

बिशवानी गांव में शराब के अवैध भट्टी काफी दिनों से चलते आ रहे हैं। प्रशासन का डर तक नहीं लगता है एवं गांव में विदेशी शराब भी बेचे जाते हैं, ब्लैक में दुकान से कुछ पैसे अधिक लेकर बेचते हैं।
ठाढ़ियार्रा गांव में करीब 100 लीटर शराब हर रोज भट्ठी से तैयार कर कई दुकानों में पहुंचाया जाता है। पड़रिया गांव में शराब की भट्ठी कई घर में चलते है। सैलेया गांवों में शराब की भट्ठी से हर रोज शराब तैयार करते हैं और शराब को सटे बिहार के शराबी आकर पीते है। ऐसे माहोल में गांवों के बच्चों को पड़ने लिखने में काफी परेशानी होते है।

 

शराबी शराब पीकर गांव में हल्ला गुल्ला करते हैं। रढ़िया पंचायत के अंतर्गत गांव में भी अवैध शराब भट्टी है। जहां काफी शराब की तैयारी की जाती है। पंचायत के अंतर्गत ककनी, बजरमरुवा, कुशमाहा, जितमहला, गजंड्डा, पिपरा, दुमदुमिया, रक्शा यह सब गांव में भी शराब की अवैध भठ्ठी चलाए जाते हैं। कुसुमडीह, बलजोरा, महियामों, बीचगढ़ा एवं पैसारदह में शराब की भठ्ठी है एवं दुकानों में विदेशी शराब अधिक मूल्यों में बेचे जाते हैं। कुसुमडीह के शुक्राहाट में भी देसी शराब की काफी बिक्री होती है एवं शराबियों की भीड़ जमा रात्रि 12:00 बजे तक रहते हैं। बहिंगा गांव में विदेशी शराब की किराना स्टोर में बेचे जाते हैं। लकड़ीगंज में महुआ की शराब एवं विदेशी शराब काफी बेचे जाते हैं एवं शराबी के द्वारा हुड़दंग मचाते हैं। जिससे ग्रामीण परेशान रहते हैं। इस रोड से आने जाने वाले राहगीर भी कतराते हैं। शराबी शराब पीकर गाली गलौज करते रहते हैं। प्रशासन को कोई असर नहीं पढ़ते हैं। सोतारी लेटवा में शराब की अवैध भट्टी कई घरों में चलाए जाते हैं एवं शराब तैयार कर रिखिया न्यच पावर प्लांट के पास हर रोज शराब की बिक्री करते हैं। डंगरी सोनवा आदि गांव में भी शराब की अवैध भट्टी चलाए जाते हैं। चिरोडीह मैं शराब की बिक्री अधिक होती है। जो देसी शराब को तैयार कर बेचे जाते हैं। वहीं रात्रि में आने जाने वाले राहगीरों को परेशान करते हैं। देशी व जहरीली शराब पीकर कईयों की मौत भी हो चुकी है।

सुत्रो की माने तो यह सब प्रसासन को मालुम है। किस गांव में किस घर में शराब बनता है लेकिन प्रसासन फिर भी हाथ पर हाथ धरे तमाशा देखती है। या फिर इससे इनको गाढ़ी कमाई होती होगी। इसलिए सिर्फ तमाश देखने का काम कर रही है।

 

क्या कहते हैं अबकारी थाना प्रभारी रूपेश कुमार सिंह

रिखिया थाना क्षेत्र में छापेमारी लगातार कर रहे हैं जो 12 अक्टूबर 2022 को छापेमारी कर एक को जेल भी भेजा गया हैं। शिकायत मिलने पर छापेमारी उस गांव तक करते हैं। जहां अवैध महुआ शराब बनाए जाते हैं एवं विदेशी शराब राशन की दुकानों में या आन दुकानों में बैचा जाता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.