जसीडीह: जसीडीह पब्लिक स्कूल में राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान भारत सरकार के द्वारा तेजस्वी परियोजना के अंतर्गत मास्टर ट्रेनर/शैक्षणिक प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण के लिए पांच दिवसीय प्रेरण प्रशिक्षण कार्यक्रम 15 अक्टूबर 2022 से 19 अक्टूबर 2022 तक संचालित किया गया । इस अवसर पर विद्यालय के निदेशक डॉ भारतेंदु दुबे, प्राचार्य श्री दुर्गेश शर्मा, सलाहकार विशिष्ट शिक्षा एनआईओएस श्री मयंक त्रिपाठी, शैक्षिक समन्वयक श्री राजाराम शर्मा उपस्थित थे । श्री राजाराम शर्मा जी ने उपस्थित अतिथियों का परिचय करते हुए इस परियोजना की कार्यप्रणाली पर प्रकाश डाला उसके बाद प्राचार्य श्री दुर्गेश शर्मा ने अकादमिक शिक्षकों की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह वृत्ति नहीं इसको आप अपना व्रत समझें यह परियोजना एकेडमिक कोचेस के लिए प्रेरणादायक तथा उत्साहवर्धक है । डॉक्टर भारतेन्दु दुबे जी ने कहा कि आप सभी अकादमी कोचेस अपने विषयों को अच्छे से जानते हैं और इस कार्यक्रम के पश्चात उम्मीद है कि आप और भी परिष्कृत हो जाएंगे।

 

इसके पश्चात सभी उपस्थित अकादमी कोचेस की कार्यक्रम से संबंधित पूर्व जांच परीक्षा ली गई । यह पाँच दिवसीय कार्यक्रम प्रतिदिन चार चरणों में संपन्न किया गया । प्रत्येक दिन के प्रत्येक चरण में विद्यालय के विषय विशेषज्ञ के द्वारा विभिन्न माध्यमों और विधियों से शिक्षण प्रशिक्षकों को अवगत कराया गया जिससे कि एकादमिक कोचेस भी अपनी विशेष विषय तथा शिक्षण की गतिविधियों को संचालित कर सकें । इसे हेतू प्रथम दिन गणित विषय के लिए सुभांकर घोष तथा चित्रकला के लिए नरेंद्र पंजियारा ने उद्बबोधन दिया । द्वितीय दिन अंग्रेजी विषय के लिए कुमारी शिप्रा तथा सामाजिक विज्ञान के लिए श्री आशुतोष कुमार दुबे, तृतीय दिन विज्ञान विषय के लिए अभिषेक भारती एवं गृह विज्ञान के लिए अनुभा कुमारी, चतुर्थ दिन योग विषय के लिए विकास कुमार दुबे तथा डाटा एंट्री विषय के लिए सागर कुमार तथा अंतिम दिन हिंदी विषय के लिए रोहित कुमार पांडे एवं इकोनामिक विषय के लिए विकास कुमार शर्मा जी द्वारा विषयों के पाठ्यक्रम, उस विषय के शिक्षण, प्रश्न पत्र, मूल्यांकन योजना इत्यादि पर प्रकाश डाला गया।

प्रत्येक दिन के अंतिम चरण में प्रशिक्षुओं को अपना विचार रखने का अवसर प्रदान किया गया तथा उनके जिज्ञासाओं एवं समस्या समाधान के लिए श्री मयंक त्रिपाठी सलाहकार विशेष शिक्षा एनआईओएस के द्वारा सहयोग किया गया। इस पर सभी प्रशिक्षु प्रसन्नता पूर्वक सहभागी बने और शिक्षण कला के बारीकी को समझने का प्रयास किया | विभिन्न प्रकार के क्रियाकलापों द्वारा प्रशिक्षुओं को विभिन्न जानकारियों से अवगत अवगत कराया गया इसमें विभिन्न माध्यम खेलकूद गतिविधि विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों का भी उपयोग किया गया । अंतिम दिन श्री राजाराम शर्मा एवं मयंक त्रिपाठी द्वारा विद्यालय प्रबंधन के सक्रिय सहयोग तथा विद्यालय के विषय विशेषज्ञों के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया गया एवं बताया कि सभी शिक्षकों के प्रस्तुतीकरण की कला रोचक सुबोध तथा सुगम रही । इस अवसर पर विद्यालय में शिक्षक रेखा कुमारी, शबनम कुमारी, सिमरन कुमारी, कुमारी ज्योति, अनामिका सिंह, कुमारी क्षिप्रा, नेहा देवी, शैलेंद्र सिंह, केशव कुमार, फाल्गुनी राय, धरती सिंह आदि उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.