कटोरिया/कुमार उमेश। कटोरिया क्षेत्र मे माता दुर्गा का अपने आसन पर विराजमान होने और पट खुलते ही महागौरी की पूजा के साथ अहले सुबह से ही सार्वजनिक दुगार्पूजा परिसर में दंड देने वाले भक्तों की भरमार हो गयी।सूर्योदय के पूर्व ही छोटे छोटे बच्चे, महिलाएं पुरुष एक साथ दंड देते हुए मंदिर तक आने का सिलसिला शाम तक जारी था। जबकि शाम को महिलाएं मंदिर में माता की पूजा के लिए जमा हुई। मान्यता है कि दंड देने से माता प्रसन्न होकर मनोकामना पूरी करती हैं।

 

कुछ लोगों का मानना है कि यह दंड धारी कुछ अपने घरों से जबकि उस नदी में स्नान करने के साथ और कुछ विभिन्न मंदिरों परिसर में स्नान करके वहां से दंड देते हुए दुर्गा मंदिर परिसर पहुंचती है। और अपनी मनोकामना से माता को अवगत कराती है। जबकि कुछ लोगों की मनोकामना पूर्ण होने पर दंड देते हैं, वहीं कुछ लोग अपनी मनोकामना लेकर आते हैं जिसकी पूर्ति होने पर दंड देने की बात माता के सामने स्वीकार करते हैं। मंदिर के पुजारी जय शंकर पांडेय का मानना है कि कटोरिया क्षेत्र के जयपुर बजार इस मंदिर से कोई भी लोग खाली हाथ नहीं जाता है। सबकी मनोकामना पूर्ण होती है। और इसी में यहां भक्तों की भीड़ लगातार बढ़ती जाती है।

 

और चढ़ावा और दंड देने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस बर्ष पूजा समिति के सदस्यों में आयोजन को सफल बनाने में आचार्य अमित पांडेय, पंडित जय शंकर पांडेय, सह पाठ आचार्य संतोष चौधरी, सचिव जनार्दन मालाकार, उपाध्यक्ष अनिल मंडल, कोषाध्यक्ष मोहन साह, सदस्य बालमुकुंद मिश्रा, पप्पू मंडल, अमर चौधरी, संतोष साह, ज्योतिष गुप्ता, मुकेश मिश्रा, गुलाब मिश्रा, मनोहर साह, युवा में सत्यम कुमार, दीपक कुमार, सनी कुमार, नीतीश कुमार, बी करण कुमार सहित अन्य अहम महत्वपूर्ण भूमिका है निभा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.