तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के टिमिट कॉलेज ऑफ़ फिजिकल एजुकेशन एवम् टीएमयू क्रिकेट टॉस अकेडमी की ओर से गेस्ट लेक्चर में बोले इंडियन हॉकी टीम के पूर्व खिलाड़ी एवं चीफ कोच भारतीय रेलवे श्री प्रेम कुमार

तीर्थकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद के टिमिट कॉलेज ऑफ़ फिजिकल एजुकेशन एवम् टीएमयू क्रिकेट टॉस अकेडमी की ओर से गेस्ट लेक्चर में इंडियन हॉकी टीम के पूर्व खिलाड़ी एवं चीफ कोच भारतीय रेलवे श्री प्रेम कुमार ने बतौर मुख्य अतिथि ने कहा, स्पोर्ट्समैन के जीवन में अनुशासन बेहद अनिवार्य है। खिलाड़ियों को स्वर्णिम करियर बनाने की खातिर अनुशासन में रहकर खेल के नियमों को सीखना अत्यंत आवश्यक है। इस मौके पर टीएमयू क्रिकेट टॉस अकेडमी हेड एवं पूर्व आईपीएल क्रिकेट खिलाड़ी श्री शिवांशु शर्मा के अलावा टिमिट कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन के प्रिंसिपल प्रो. मनु मिश्रा भी मौजूद रहे।

 

भारतीय रेलवे के चीफ कोच श्री प्रेम कुमार बोले, जीवन में खिलाड़ी के लिए समय की पाबंदी का भी होना अत्यंत आवश्यक है ताकि लंबे समय तक खिलाड़ी अपनी बेस्ट परफॉर्मेंस बनाए रखें। खिलाड़ी को हमेशा मेहनतकश भी होना चाहिए। बिना कड़ी मेहनत के खिलाड़ी कभी भी सफल नहीं हो सकता है। एक अच्छे खिलाड़ी को सदैव ये तीनों बातें ध्यान में रखना चाहिए। स्पोर्ट्समैन वह है , जो कोच के न रहने पर भी कोच के सिखाए गए नियमों के साथ मैदान में रहें। किसी भी कोचिंग, इंस्टीट्यूट या अकेडमी में बेस्ट इंस्ट्रक्टर किसी भी स्पोर्ट्समैन के लिए वरदान होता है। साथ ही उत्कृष्ट खिलाड़ी बनने के लिए बैकग्राउंड स्ट्रॉन्ग होना जरूरी नहीं है। अंत में कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो. मनु मिश्रा ने गेस्ट लेक्चर में आने के लिए श्री प्रेम कुमार का धन्यवाद अदा किया। कार्यक्रम में टीएमयू क्रिकेट टॉस अकेडमी के अनेक खिलाड़ी, फिजिकल कॉलेज के स्टुडेंट्स के अलावा टीचर्स – श्री तोहिद अख्तर , श्री योगेंद्र शर्मा, श्री यश चंद्र गंगवार ,श्री मनोज कुमार आदि की उपस्थिति रही|
कार्यक्रम की शुरुआत में फैकल्टी श्री उनमेश उत्थासेन ने सभी का स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.