किन्शासा : पूर्वी कांगो में संयुक्त राष्ट्र मिशन के खिलाफ दो दिनों से चल रहे प्रदर्शनों में कम से कम 15 लोगों की मौत हो गयी है तथा कई घायल हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र ने पुष्टि की कि नॉर्थ कीवु प्रांत के बुटेम्बो में संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षा बल के साथ काम कर रहे एक शांति रक्षक तथा दो अंतरराष्ट्रीय पुलिसकर्मियों की मौत हो गयी है तथा एक अन्य घायल हो गया है। उसने बताया कि हिसक हमलावरों ने कांगो के पुलिसकर्मियों से हथियार छीने और संयुक्त राष्ट्र कर्मियों पर गोलियां चला दीं।

संयुक्त राष्ट्र के उप प्रवक्ता फरहान हक ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षकों समेत असैन्य नागरिकों के मारे जाने की खबरों की जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि मंगलवार को सैकड़ों हमलावरों ने गोमा के साथ ही नॉर्थ कीवु के अन्य हिस्सों में संयुक्त राष्ट्र बल के अड्डों पर फिर से हमला किया। हक ने कहा, ''भीड़ पथराव कर रही है और पेट्रोल बम फेंक रही है, संयुक्त राष्ट्र बल के अड्डों में घुस रही है, लूटपाट, तोड़फोड़ और आगजनी कर रही है।

हम त्वरित प्रतिक्रिया बलों को भेजकर स्थिति संभालने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हिसा के खत्म होने का कोई संकेत नहीं मिला है। कांगो पुलिस ने बताया कि गोमा में कम से कम छह लोगों और बुटेम्बो में आठ नागरिकों की मौत हुई है। इससे पहले, सरकार के प्रवक्ता पैट्रिक मुयाया ने बताया था कि सोमवार तक कम से कम पांच लोग मारे गए थे और करीब 50 घायल हुए हैं। वहीं, प्रदर्शनकारियों ने इन मौतों के लिए शांतिरक्षकों द्बारा गोलियां चलाए जाने को जिम्मेदार ठहराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.