जेद्दा | अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि उन्होंने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ शुक्रवार को बैठक की शुरुआत में सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की 2018 में हुई हत्या का मामला उठाया। इसी के साथ उन्होंने इस विचार को खारिज किया कि वह सऊदी अरब के साथ अहम राजनयिक संबंधों को फिर से स्थापित करने की कोशिश के दौरान उसके द्बारा किए गए कथित मानवाधिकार उल्लंघन को नजरअंदाज कर रहे हैं।

बाइडन ने कहा, ''मैंने स्पष्ट कहा कि एक अमेरिकी राष्ट्रपति होने के नाते, जो मैं हूं, मानवाधिकार के किसी मामले पर चुप रहना, उस पहचान से मेल नहीं खाता। उन्होंने कहा, ''मैं हमारे मूल्यों के लिए हमेशा खड़ा होऊंगा। अमेरिकी खुफिया विभाग का मानना है कि अमेरिका में रहने वाले लेखक खशोगी की चार साल पहले हत्या क्राउन प्रिंस सलमान के इशारे पर की गई थी।

बाइडन ने कहा कि प्रिंस मोहम्मद ने दावा किया कि वह खशोगी की मौत के लिए ''व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार नहीं हैं। राष्ट्रपति ने कहा, ''मैंने संकेत दिया कि मुझे लगता है कि वह (जिम्मेदार) थे। इस हत्या ने सऊदी अरब के साथ संबंधों में सुधार करने के बाइडन के प्रयासों को बाधित किया है। बाइडन शुक्रवार को सऊदी अरब पहुंचे थे। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने शाही महल में बाइडन का स्वागत किया। यह दोनों नेताओं की पहली मुलाकात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.