चांगवोन | भारतीय निशानेबाज़ी टीम ने गुरुवार को आईएसएसएफ निशानेबाज़ी विश्व कप में एक स्वर्ण और तीन रजत सहित चार पदक हासिल किये। अर्जुन बबुता, शाहू तुषार माने और पार्थ मखीजा की पुरुष टीम ने फाइनल में मेजबान कोरिया को 17-15 से हराकर एयर राइफल टीम स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। रमिता, टोक्यो ओलंपियन एलावेनिल वलारिवन और मेहुली घोष की एयर राइफल महिला टीम ने कोरिया से स्वर्ण पदक मैच 10-16 से हारकर रजत पदक प्राप्त किया।

दोनों पुरुष और महिला राइफल टीम ने क्रमश: 629.7 और 631.5 अंकों के साथ आठ-टीम योग्यता में शीर्ष स्थान हासिल कर स्वर्ण पदक मैच के लिए क्वालीफाई किया था। साथ ही शिव नरवाल नवीन और सागर डांगी की जोड़ी ने एयर पिस्टल पुरुष टीम स्पर्धा में इटली से 15-17 से हारने के बाद रजत पदक जीता। रिदम सांगवान, पलक और युविका तोमर की एयर पिस्टल टीम ने भी फाइनल में कोरिया के खिलाफ 12-16 से हारकर रजत पदक जीता।

पुरुष और महिला पिस्टल टीमों ने क्वालीफिकेशन में 581-223 और 571-203 के साथ क्रमश: इटली और कोरिया के खिलाफ गोल्ड फइनल में प्रवेश किया है। कुल मिलाकर, भारत ने आठ पदक (तीन स्वर्ण, चार रजत और एक कांस्य) जीते और वर्तमान में पदक तालिका में शीर्ष पर है। इसके बाद कोरिया तीन स्वर्ण और एक रजत के साथ दूसरे स्थान पर है। सर्बिया ने कुल तीन स्वर्ण पदक जीते हैं और वह तीसरे स्थान पर है। सीजन के अंतिम विश्व कप में कुल 30स्वर्ण पदक दांव पर हैं और 43 देशों के लगभग 450एथलीट 30स्पर्धाओं में भाग ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.