संयुक्त राष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने हैती में अपने राजनीतिक मिशन की अवधि बढ़ाने पर बुधवार को होने वाला मतदान को स्थगित कर दिया। इससे पहले चीन ने प्रस्ताव पर बंद कमरे में चर्चा कराने का आह्वान किया। हैती के साथ चीन का कोई राजनयिक संबंध नहीं है। हैती, पश्चिमी गोलार्ध का सबसे गरीब देश है और गिरोहबाजी से उपजी हिसा, अपहरण और हत्या के मामले बढ़ने से परेशान है।

बैठक के बाद संयुक्त राष्ट्र में रूस के उप राजदूत दिमित्री पोल्यान्स्की ने कहा कि “सभी कुछ करना चाहते हैं और हमें लगता है कि हमें थोड़ा और करने की जरूरत है।” उन्होंने कहा कि सवाल यह है कि “व्यावहारिक तौर पर हम क्या कर सकते हैं।” प्रस्ताव का मसौदा तैयार करने की जिम्मेदारी अमेरिका और मेक्सिको की है जो कि उसमें कुछ बदलाव करेंगे। हैती में राजनीतिक मिशन की अवधि बढ़ाने पर फैसला शुक्रवार तक के लिए टाल दिया गया है। राजनयिकों ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि शुक्रवार को नए प्रस्ताव पर मतदान होगा।

गौरतलब है कि अक्टूबर 2021 में चीन और संयुक्त राष्ट्र परिषद के कई अन्य देशों के बीच अंतिम क्षण में एक समझौता हुआ था, जिसमें लंबे समय तक संयुक्त राष्ट्र की मौजूदगी का आह्वान किया गया और मिशन की अवधि एक साल तक बढ़ाने की मांग की गयी। वहीं, चीन केवल छह महीने तक विस्तार देना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.