गुरुग्राम : स्पाइसजेट के प्रबंध निदेशक अजय सिह के खिलाफ एक कारोबारी के साथ कंपनी के शेयर आवंटित करने के नाम पर करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि सिह ने इसी तरह दूसरों के साथ धोखाधड़ी की है। अमित अरोड़ा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि सिह ने उन्हें प्रदान की गई सेवाओं के लिए 10 लाख शेयरों की फर्जी डिपॉजिटरी इंस्ट्रक्शन स्लिप (डीआईएस) दी।

उन्होंने कहा कि सिह ने उनसे स्पाइसजेट के 10 लाख शेयर देने का वादा किया था। अरोड़ा को ये शेयर उनके द्बारा दी गई सेवाओं के एवज में दिए जाने थे। अरोड़ा ने ये सेवाएं प्रवर्तकों से एयरलाइन का नियंत्रण लेने के दौरान दी थीं। अरोड़ा ने अपनी शिकायत में कहा, ''अजय सिह ने एक डिपॉजिटरी इंस्ट्रक्शन स्लिप दी थी, जो बाद में अमान्य और पुरानी करार दी गई। इसके बाद मैंने उनसे कई बार संपर्क किया और उनसे अनुरोध किया कि या तो वैध डिपॉजिटरी इंस्ट्रक्शन स्लिप प्रदान करें या सीधे शेयर स्थानांतरित करें। हालांकि, कोई बहाना लगाकर या किसी अन्य कारण से उन्होंने ''मुझे शेयर हस्तांतरित करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मेरे पास सिह के खिलाफ आरोप लगाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा था। पुलिस ने सुशांत लोक थाने में आईपीसी की धारा 406, 409, 415, 417, 418, 420 के तहत मामला दर्ज किया है। सुशांत लोक की थाना प्रभारी (एसएचओ) पूनम हुड्डा ने कहा, ''एफआईआर दर्ज कर ली गई है और हम तथ्यों की पुष्टि कर रहे हैं और कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.