नई दिल्ली: भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के सांसद बिनॉय विश्वम ने नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिया को पत्र लिखकर पिछले कुछ हफ्तों में हुई कई तरह की घटनाओं के मद्देनजर उड़ान कंपनियों की “खराब और गंभीर” सुरक्षा स्थितियों पर चिता व्यक्त की है। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने पिछले 18 दिनों में स्पाइसजेट के विमानों में आठ बार तकनीकी खराबी पाए जाने के बाद बुधवार को उसे कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

स्पाइसजेट की तरह इंडिगो और विस्तारा के विमानों को भी मंगलवार को तकनीकी खराबी का सामना करना पड़ा। विश्वम ने मंत्री से देश भर में उड़ान कंपनियों की ''व्यापक समीक्षा सुनिश्चित करने और यात्रियों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, ''यह पत्र उन खराब और गंभीर सुरक्षा स्थितियों के बारे में लिखा गया है, जिनके तहत फिलहाल देश में उड़ान कंपनियां काम कर रही हैं। भाकपा नेता ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में कई सुरक्षा घटनाएं और विमानों की आपातकालीन लैंडिग हुई हैं। उन्होंने कहा, ''विभिन्न कंपनियों के विमानों के उड़ान भरने के बाद तकनीकी खामी पाए जाने की लगभग 21 घटनाएं सामने आई हैं।

जिनमें से 10 अकेले पिछले महीने हुई हैं। उन्होंने कहा, ''इसके साथ ही, कई उड़ान कंपनियों को एयर कंडीशनर के नहीं चलने जैसी खराबी का भी सामना करना पड़ा, जिसके कारण यात्रियों के दम घुटने की घटनाएं सामने आईं। इस तरह की खेदजनक स्थिति अक्षम्य है और हवाई यात्रा को लेकर पहले से ही आशंकित लोगों के बीच तनाव पैदा करती है। भाकपा नेता ने कहा, ''विमानन ईंधन की बढ़ती लागत के साथ एयरलाइन पर बढ़ता बोझ, लागत में कटौती के उपाय के रूप में सुरक्षा प्रक्रियाओं से समझौता करना हमारे मन में संदेह पैदा करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.