Twitter

सानिया मिर्जा ने मिश्रित युगल सेमीफाइनल में हार के साथ विम्बलडन से विदा ली।35 वर्ष की सानिया छह ग्रैंडस्लैम खिताब जीत चुकी हैंजिनमें तीन मिश्रित युगल खिताब हैं हालांकि वह विम्बलडन मिश्रित युगल कभी नहीं जीत सकी।उन्होंने 2009 आस्ट्रेलियाई ओपन और 2012 फ्रेंच ओपन महेश भूपति के साथ और2014 अमेरिकी ओपन ब्राजील के ब्रूनो सुआरेस के साथ जीता था।

विम्बलडन। भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने मिश्रित युगल सेमीफाइनल में गत चैम्पियन नील कुपस्की और डेसिरे क्रॉजिक से मिली हार के साथ विम्बलडन से विदा ली।
सानिया और क्रोएशिया के मेट पाविच की छठी वरीयता प्राप्त जोड़ी को ब्रिटेन के कुपस्की और अमेरिका की डेसिरे ने 4 . 6, 7 . 5, 6 . 4 से हराया।
35 वर्ष की सानिया छह ग्रैंडस्लैम खिताब जीत चुकी हैं जिनमें तीन मिश्रित युगल खिताब हैं हालांकि वह विम्बलडन मिश्रित युगल कभी नहीं जीत सकी।
उन्होंने 2009 आस्ट्रेलियाई ओपन और 2012 फ्रेंच ओपन महेश भूपति के साथ और 2014 अमेरिकी ओपन ब्राजील के ब्रूनो सुआरेस के साथ जीता था।

इसे भी पढ़ें: Wimbledon Open 2022: राफेल नडाल पहुंचे सेमीफाइनल, रोमांचक मुकाबले में टेलर फ्रिट्ज को हराया

सानिया का यह टूर पर आखिरी साल है। उन्होंने और पाविच ने पहला सेट जीतने के बाद दूसरे सेट में भी 4 . 2 की बढत बना ली थी लेकिन अगले छह में से पांच गेम हार गए।
निर्णायक सेट में सानिया और पाविच ने अपने विरोधी की सर्विस तोड़ी लेकिन ज्यादा देर दबाव बनाकर नहीं रख सके। पाविच ने 12वें गेम में दो बार डबल फॉल्ट किये।
विम्बलडन में यह सानिया का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। वह 2011, 2013 और 2015 में क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी।
उन्होंने विम्बलडन में 2015 में मार्तिना हिंगिस के साथ महिला युगल खिताब जीता था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़



Leave a Reply

Your email address will not be published.