सिंधु के पास ओलंपिक रजत जीतने वाली खेल में एकमात्र एकल खिलाड़ी होने का एक प्रतिष्ठित रिकॉर्ड भी है। उन्होंने 2016 रियो ओलंपिक के दौरान यह उपलब्धि हासिल की थी। सिंधु ने 2020 के ओलंपिक में भी कांस्य पदक जीता था।

पीवी सिंधु 27 साल की छोटी सी उम्र में ही भारत में एक बेहतरीन खिलाड़ी बन चुकी हैं। विश्व चैंपियनशिप जीतने से लेकर ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा और पदक जीतने तक, सिंधु देश में कई उभरते हुए शटलरों के लिए प्रेरणा रही हैं। उनकी  कड़ी मेहनत और लगातार प्रदर्शन को कई राष्ट्रीय पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है। आइये उनके 27वां जन्मदिन पर जाने पीवी सिंधु के पांच उल्लेखनीय रिकॉर्ड

इसे भी पढ़ें: 27 वर्षीय पारुल चौधरी ने किया भारत का नाम रौशन, 6 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर जीता कांस्य पदक

BWF विश्व चैम्पियनशिप गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय एकल खिलाड़ी

सिंधु BWF विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली एकल खिलाड़ी हैं। उन्होंने अगस्त 2019 में यह उपलब्धि हासिल की थी। उन्होंने फाइनल में जापान की नोज़ोमी ओकुहारा को 21-7, 21-7 से हराया। स्वर्ण जीतने से पहले, वह 2017 और 2018 में इस स्पर्धा में पहले ही रजत जीत चुकी थीं।

वर्ल्ड टूर फाइनल जीतने वाली पहली भारतीय

सिंधु BWF वर्ल्ड टूर फ़ाइनल का ताज जीतने वाली पहली भारतीय हैं। उन्होंने 2018 में फाइनल में नोज़ोमी ओकुहारा को 21-19, 21-17 से हराकर यह जीत हासिल की थी।

सबसे लंबे समय तक विश्व चैंपियनशिप फाइनल खेलने का रिकॉर्ड

सिंधु ने 2017 विश्व चैंपियनशिप के दौरान, टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे लंबा फाइनल खेला। उन्होंने ओकुहारा के खिलाफ 110 मिनट तक मैच खेला लेकिन जीतने में असफल रही, क्योंकि जापानियों ने 21-19, 20-22, 22-20 से जीत हासिल की। यह महिलाओं का दूसरा सबसे लंबा फाइनल भी था।

इसे भी पढ़ें: भारतीय महिला की निगाहें दूसरे वनडे में जीत से श्रृंखला अपने नाम करने पर

ओलंपिक रजत जीतने वाली पहली भारतीय एकल खिलाड़ी

सिंधु के पास ओलंपिक रजत जीतने वाली खेल में एकमात्र एकल खिलाड़ी होने का एक प्रतिष्ठित रिकॉर्ड भी है। उन्होंने 2016 रियो ओलंपिक के दौरान यह उपलब्धि हासिल की थी। सिंधु ने 2020 के ओलंपिक में भी कांस्य पदक जीता था।

पांच विश्व चैंपियनशिप पदक जीतने वाली पहली भारतीय

सिंधु प्रतियोगिता में पांच पदक जीतने वाली एकमात्र भारतीय हैं: स्वर्ण (2019), रजत (2012 और 2018) और कांस्य (2013 और 2014)। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.