इस्लामाबाद | पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने पंजाब पुलिस और नौकरशाही को आगामी स्थानीय सरकार के चुनावों के दौरान प्रांतीय सरकार के 'अवैध आदेशों को मानने और उनका पालन करने के बारे में चेताया है। उन्होंने दावा किया पाकिस्तान तहरीक इंसाफ (पीटीआई) विभागों का रिकार्ड रखती है। डॉन अखबार ने बुधवार को इमरान खान के हवाले से दावा किया कि उनकी सरकार अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के दबाव के आगे नहीं झुकी और वैश्विक मुद्रास्फीति का बोझ पाकिस्तानी लोगों पर नहीं डाला। इसके बाद उन्होंने जनता से इस्लामाबाद के परेड ग्राउंड में दो जुलाई को होने वाले मुद्रास्फीति के विरोध होने वाले प्रदर्शन में भाग लेने का आग्रह किया।

श्री खान ने यह भी दावा किया कि यह बिल्कुल साफ हो रहा है कि हमजा शहबाज बहुत लंबे समय तक पंजाब के मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे। देश की खराब वित्तीय स्थिति को लेकर श्री खान ने कहा कि हालांकि पीटीआई सरकार के दौरान परिस्थितियां मुश्किल थीं लेकिन आईएमएफ के दबाव, कमजोर अर्थव्यवस्था और कोविड-19 जैसी महामारी के बावजूद वैश्विक मुद्रास्फीति का बोझ जनता पर नहीं डाला। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर 'अनुभवी चोरों का शासन जारी रहा तो देश को और अधिक नुकसान हो सकता है। श्री खान ने जनता से अपने भविष्य को देखते हुये दो जुलाई को शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन में भाग लेने का आग्रह किया। पार्टी की बैठक में विरोध प्रदर्शन की व्यवस्था पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.