Wimbledon 2022: जानिए 145 साल पुराने विंबलडन टूर्नामेंट से जुड़ी अहम बातें

0
8
Wimbledon 2022: जानिए 145 साल पुराने विंबलडन टूर्नामेंट से जुड़ी अहम बातें


creative common

विंबलडन टेनिस टूर्नांमेंट मुख्य रूप से जून के अंत में शुरू होकर और जुलाई की शुरुआती दो हफ्तों तक चलता है। जून में आखिरी सोमवार से शुरू होने वाला टूर्नामेंट जुलाई के दूसरे सप्ताह के वीकेंड यानी शनिवार और रविवार के एकल फाइनल के साथ समापन हुआ।

27 जून से विंबलडन टेनिस टूर्नांमेंट का आगाज हो रहा है। विंबलडन को आमतौर पर विंबलडन या द चैंपियनशिप के नाम से जाना जाता है। ये दुनिया का सबसे पुराना टेनिस टूर्नामेंट है और इसे व्यापक रूप से सबसे प्रतिष्ठित माना जाता है। विंबलडन की पहली चैंपियनशिप आज से 145 साल पहले यानी साल 1877 में लंदन के ऑल इंग्लैंड क्लब में आयोजित किया गया। शुरुआती दौर में ये केवल पुरूषों का खेल था। लेकिन साल 1884 में महिलाओं को हिस्सा लेने की इजाजत मिली। केवल दोनों विश्व युद्ध के दौरान और 2020 में कोविड महामारी की वजह से विंबलडन का आयोजन नहीं हो सका। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी ने लंदन पर बमबारी की जिसकी वजह से सेंटर कोरेट की छत का एक हिस्सा छतिग्रस्त हो गया जिसे ठीक करने में कई साल लगे।

इसे भी पढ़ें: एशियाई खेल और विश्व चैंपियनशिप में एक माह का अंतर रहने पर दोनों में भाग लूंगा : बजरंग

विंबलडन टेनिस टूर्नांमेंट मुख्य रूप से जून के अंत में शुरू होकर और जुलाई की शुरुआती दो हफ्तों तक चलता है। जून में आखिरी सोमवार से शुरू होने वाला टूर्नामेंट जुलाई के दूसरे सप्ताह के वीकेंड यानी शनिवार और रविवार के एकल फाइनल के साथ समापन हुआ। हालांकि, 2015 में टेनिस कैलेंडर में बदलाव के कारण ये एक सप्ताह आगे चली गई और जुलाई की शुरुआत में इसका आगाज हुआ। विंबलडन आउटडोर ग्रास कोर्ट पर खेला जाता है। ये टेनिस के चार प्रमुख ग्रैंड स्लैम में से एक है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन और यूएस ओपन भी टेनिस के प्रमुख ग्रैंड स्लैम हैं। विंबलडन में प्रतियोगियों के लिए एक सख्त ऑल-व्हाइट ड्रेस कोड और शाही संरक्षण शामिल है। टूर्नामेंट में पारंपरिक रूप से दर्शकों के लिए स्ट्रॉबेरी और क्रीम खाने की परंपरा है। 

इसे भी पढ़ें: शह और मात के खेल में उतरे पवार, क्या संजीवनी बूटी देकर संकट से उद्धव को बचा पाएंगे ?

रोडर फेडरर आठ बार से जीतकर विजेताओं की फेहरिस्त में पहले पायदान पर हैं। महिलाओं में चेक अमेरिकी मार्टिना नवरातलोवा के नाम नौं खिताबों का रिकॉर्ड दर्ज है। इंग्लैंड में काफी बारिश होती है और ये विंबलडन के लिए एक परेशानी का सबब है। इसकी वजह से मैच स्थगित भी हो जाते थे। लेकिन 2009 में विंबलडन के सेंटर कोर्ट को बारिश के कारण खेलने के समय के नुकसान को कम करने के लिए एक ऐसी छत से सुसज्जित किया गया, जो बारिश से मैच को बचा लेती है।

इसे भी पढ़ें: शह और मात के खेल में उतरे पवार, क्या संजीवनी बूटी देकर संकट से उद्धव को बचा पाएंगे ?

135 वां संस्करण 27 जून 2022 और 10 जुलाई 2022 के बीच होने वाला है। विंबलडन 2022 में महिला और पुरुष एकल वर्ग में चैंपियन बनने पर खिलाड़ी को एक समान 2-2 मिलियन पाउंड यानी लगभग 19.45 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। महिला और पुरूष पेशेवर टूर इस साल विंबलडन के लिए रैंकिंग अंक प्रदान नहीं करेगा क्योंकि ऑल इंग्लैंड क्लब ने यूक्रेन पर हमले के कारण रूस और बेलारूस के खिलाड़ियों को प्रतिबंधित कर दिया है।  

अन्य न्यूज़



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here