एलमौ (जर्मनी) | सात आर्थिक शक्तियों के समूह जी-7 ने रूस पर सख्त रुख अपनाने का फैसला किया है। एक अमेरिकी अधिकारी ने सोमवार को कहा कि मास्को की ऊर्ज़ा कमाई पर अंकुश लगाने के मकसद से रूसी तेल पर कीमत की सीमा को आगे बढ़ाने के लिए जी-7 देश एक समझौते की घोषणा करने वाले हैं। यह कदम यूक्रेन का समर्थन करने के एक संयुक्त प्रयास का हिस्सा है, जिसमें रूसी सामानों पर शुल्क बढ़ाना और युद्ध का समर्थन करने वाले सैकड़ों रूसी अधिकारियों और संस्थाओं पर नए प्रतिबंध लगाना शामिल है।

जर्मनी के आल्प्स में अपने तीन दिवसीय शिखर सम्मेलन के दौरान जी-7 नेता मू्ल्य सीमा के समझौते को अंतिम रूप दे रहे हैं।
मूल्य सीमा कैसे काम करेगी और साथ ही रूसी अर्थव्यवस्था पर इसका क्या प्रभाव होगा, इस बारे में जी-7 के वित्त मंत्रियों को आने वाले वक्त में विचार करना है। दुनिया की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक अर्थव्यवस्थाएं अपने देशों में रूसी आयात पर शुल्क बढ़ाने का फैसला भी करेंगी। अमेरिका ने 570श्रेणियों के सामानों पर नए टैरिफ की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.