वाशिगटन : भारतीय-अमेरिकी सांसद डॉ. एमी बेरा ने अमेरिकी विदेश मंत्रालय द्बारा 'गांधी-किग स्कॉलरली एक्सचेंज इनिशिएटिव शुरू किए जाने का स्वागत किया है। इस कार्यक्रम का मकसद महात्मा गांधी और डॉ. मार्टिन लूथर किग जूनियर की विरासत और उनके जीवन का अध्ययन करके सामाजिक न्याय एवं नागरिक अधिकारों को आगे ले जाने के लिए भारत और अमेरिका के युवा नेताओं को साथ लाना है।

प्रतिनिधि सभा के दिवंगत सदस्य जॉन लुइस ने इसका समर्थन किया था। बेरा ने शुक्रवार को कहा, ''अमेरिकी कांग्रेसमें सबसे अधिक समय तक सेवाएं देने वाले भारतीय-अमेरिकी सदस्य होने के नाते मैं इस बात को लेकर बहुत उत्साहित हूं कि अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने 'गांधी-किग स्कॉलरली एक्सचेंज इनिशिएटिव की आधिकारिक रूप से शुरूआत की, जिसे दिवंगत महान सांसद जॉन लुइस ने समर्थन दिया था।

बेरा अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में सबसे अधिक समय तक सेवाएं देने वाले भारतीय अमेरिकी हैं।
बेरा ने कहा, '' गांधी और डॉ. किग ऐसे महान व्यक्ति थे, जिन्होंने नागरिक अधिकारों और सामाजिक न्याय के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। गांधी और डॉ. किग की विरासतों की खोज करके, यह विनिमय कार्यक्रम भारत और अमेरिका में युवा नेताओं को इन मूल्यों को भावी पीढ़ियों के लिए आगे बढ़ाने में सशक्त बनाएगा। 'गांधी-किग स्कॉलरली एक्सचेंज इनिशिएटिव भारत और अमेरिका के लोगों के बीच संबंधों को और मजबूत करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.