सियोल :उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन और उनके शीर्ष सहायकों ने उन अधिकारियों पर कार्रवाई करने पर जोर दिया है, जिन्होंने अपने अधिकारों का दुरुपयोग किया और ''आर्थिक रूप से अनुचित तथा गैर-क्रांतिकारी कार्य किए। यह किम के कोविड-19 महामारी और वृहद आर्थिक मुश्किलों से निपटने के लिए आंतरिक एकता बनाए रखने की कवायद का हिस्सा है। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि सत्तारूढ़ वर्कस पार्टी की रविवार को हुई बैठक में किन कार्यों का जिक्र किया गया।

कुछ पर्यवेक्षकों का कहना है कि संभवत: ऐसे कथित कार्यों पर यह कार्रवाई किम की अपने लोगों पर पकड़ मजबूत करने और घरेलू मुश्किलों के परिदृश्य में अपने नेतृत्व के पक्ष में रखने की कोशिश का हिस्सा हो सकता है। आधिकारिक 'कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने कहा कि किम और पार्टी के अन्य वरिष्ठ मंत्रियों ने ''सत्ता के दुरुपयोग और पार्टी के कुछ अधिकारियों के बीच नौकरशाही के खुलासे समेत आर्थिक रूप से अनुचित तथा गैर-क्रांतिकारी कार्यों के खिलाफ अधिक गहन संघर्ष छेड़ने पर चर्चा की।

केसीएनए के अनुसार, किम ने पार्टी के ''अखंड नेतृत्व और ''मजबूत अनुशासन के जरिए पार्टी की व्यापक राजनीतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने का आदेश दिया। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर उत्तर कोरिया द्बारा पाबंदियां बढ़ाए जाने से देश की आर्थिक मुश्किलें और बढ़ सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.