वाशिगटन : अमेरिका में 6 जनवरी 2021 को कैपिटल हिल दंगे की जांच कर रही अमेरिकी संसद की चयन समिति ने कहा है कि साल 2020 के अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव परिणामों को पलटकर तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तख्तापलट करने की कोशिश की थी, जिसे साबित करने के लिए उनके पास पर्याप्त सबूत है। इन्हें अमेरिकी न्याय विभाग के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। खलीज टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

समिति ने इस मामले में पिछले हफ्ते अपनी पहली सार्वजनिक सुनवाई की थी। अब इस हफ्ते होने वाली सुनवाई के दौरान अतिरिक्त सबूतों का खुलासा किया जाएगा। इसमें बताया जाएगा कि किस तरह से ट्रंप अपने सलाहकारों के साथ मिलकर बड़े पैमाने पर गलत सूचना का प्रसार करने में जुटे रहे और न्याय विभाग पर अपने झूठे दावों को अपनाने के लिए दबाव डालते रहे हैं। समिति के सदस्यों ने संकेत दिया कि अमेरिकी अटॉर्नी जनरल मेरिक गारलैंड इस पर फैसला लेंगे, जिसके बाद यह तय होगा कि ट्रंप पर आगे मुकदमा चलाया जा सकेगा या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.