Commonwealth Games: अच्छी लय हासिल करने की कोशिश करेंगी पुरुष और महिला हॉकी टीम

0
3
Commonwealth Games: अच्छी लय हासिल करने की कोशिश करेंगी पुरुष और महिला हॉकी टीम


पुरुष और महिला हॉकी टीम राष्ट्रमंडल खेलों से पहले अच्छी लय हासिल करने की कोशिश करेंगी।भारतीय महिला टीम के लिये ये मैच एक से 17 जुलाई तक स्पेन और नीदरलैंड में होने वाले महिला विश्व कप से पहले अधिक महत्व रखते हैं।एफआईएच प्रो लीग में भारतीय पुरुष टीम अभी 12 मैचों में 27 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है।

एंटवर्प (बेल्जियम)। भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम शनिवार को यहां जब बेल्जियम के खिलाफ अपने एफआईएच प्रो लीग अभियान को फिर से शुरू करने के लिये उतरेंगी तो उनका लक्ष्य राष्ट्रमंडल खेलों से पहली अच्छी लय हासिल करना होगा।
भारतीय पुरुष टीम को जहां मेजबान बेल्जियम (11 और 12 जून)और उसके बाद नीदरलैंड के खिलाफ खेल (18 और 19 जून को रॉटरडैम में) से मैच खेलने हैं वहीं महिला टीम बेल्जियम (11 और 12 जून), अर्जेंटीना (18 और 19 जून) और अमेरिका (21 और 22 जून) से भिड़ेगी।

इसे भी पढ़ें: फ्रेंच ओपन सेमीफाइनल में कोर्ट पर घुसी पर्यावरण कार्यकर्ता, 13 मिनट तक बाधित रहा खेल

भारतीय महिला टीम के लिये ये मैच एक से 17 जुलाई तक स्पेन और नीदरलैंड में होने वाले महिला विश्व कप से पहले अधिक महत्व रखते हैं।
एफआईएच प्रो लीग में भारतीय पुरुष टीम अभी 12 मैचों में 27 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है। वह बेल्जियम से एक पायदान ऊपर है जिसके भारत के समान अंक हैं लेकिन गोल अंतर में उससे पीछे है।
भारत को इन मैचों से फिर से शीर्ष पर पहुंचने का मौका मिलेगा। नीदरलैंड अभी 10 मैचों में 28 अंकों के साथ शीर्ष पर काबिज है।
ये मैच दोनों भारतीय टीम के लिये प्रो लीग में छाप छोड़ने के अलावा 28 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के लिये अच्छी लय हासिल करने की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण हैं।
पुरुष और महिला हॉकी के मुख्य कोच क्रमश: ग्राहम रीड और जेनेका शोपमैन दोनों ने पहले ही कहा था कि वे यूरोपीय चरण के इन मैचों को अपनी टीमों रणनीतिक रूप से मजबूत करने के रूप में देख रहे हैं।
भारत ने यूरोप इस दौरे के लिये अमित रोहिदास के नेतृत्व में 20 सदस्यीय पुरुष टीम को मैदान में उतारा है।

इसे भी पढ़ें: काफी दिलचस्प था French Open का मैच, नडाल और जोकोविच में से कोई नहीं मान रहा था हार; फिर हुआ कुछ ऐसा..

टीम की रक्षापंक्ति में अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश और युवा सूरज करकेरा के साथ डिफेंडर सुरेंद्र कुमार, हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार, अमित रोहिदास, जुगराज सिंह और जरमनप्रीत सिंह शामिल हैं।
मध्य पंक्ति में तोक्यो ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता कप्तान मनप्रीत सिंह, हार्दिक सिंह, शमशेर सिंह, विवेक सागर प्रसाद, आकाशदीप सिंह और नीलकंठ शर्मा हैं, जबकि अग्रिम पंक्ति की जिम्मेदारी गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह, शिलाानंद लाकड़ा, सुखजीत सिंह, ललित कुमार उपाध्याय और अभिषेक पर होगी।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन ने विश्व कप में बनाई जगह, मीडिया के सामने फूट-फूटकर रोए खिलाड़ी

महिला वर्ग में 24 सदस्यीय टीम का चयन किया गया है जिसका नेतृत्व गोलकीपर सविता करेंगी, जबकि डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का उप कप्तान की जिम्मेदारी निभाएगी।
टीम में बिचु देवी खरीबाम, इशिका चौधरी, अक्षता अबसो ढेकाले, बलजीत कौर, संगीता कुमारी और दीपिका जैसी जूनियर विश्व कप की स्टार भी शामिल हैं।अनुभवी स्ट्राइकर रानी रामपाल तोक्यो ओलंपिक के बाद वापसी के लिये तैयार हैं। हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण वह मैदान से बाहर थीं।
महिला टीम की रक्षापंक्ति में गुरजीत कौर, निक्की प्रधान और उदिता भी होंगी।
निशा, सुशीला चानू पुखरामबम, मोनिका, नेहा, ज्योति, नवजोत कौर, सोनिका, सलीमा टेटे और बलजीत कौर मध्य पंक्ति का जिम्मा संभालेंगी, जबकि अग्रिम पंक्ति में वंदना कटारिया लालरेम्सियामी, नवनीत कौर, शर्मिला देवी, संगीता कुमारी, दीपिका और रानी शामिल हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here