खेलो इंडिया: हरियाणा स्वर्ण पदक की दौड़ में सबसे आगे

0
3
खेलो इंडिया: हरियाणा स्वर्ण पदक की दौड़ में सबसे आगे


चैम्पियन महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर है, उसने एथलेटिक्स में तीन और तैराकी में दो स्वर्ण पदक जीते। इससे उसके 31 स्वर्ण, 28 रजत और 23 कांस्य पदक हो गये हैं।

पंचकुला। हरियाणा ने गुरुवार को यहां खेलो इंडिया युवा खेलों की भारोत्तोलन और निशानेबाजी स्पर्धा में एक एक स्वर्ण पदक जीतकर अपनी बढ़त कायम रखी।
हरियाणा के 33 स्वर्ण, 27 रजत और 36 कांस्य पदक हैं जिससे वह पहले स्थान पर चल रहा है।
गत चैम्पियन महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर है, उसने एथलेटिक्स में तीन और तैराकी में दो स्वर्ण पदक जीते। इससे उसके 31 स्वर्ण, 28 रजत और 23 कांस्य पदक हो गये हैं।
हालांकि दिन महाराष्ट्र के धावकों के नाम रहा जिन्होंने दाव पर लगे चार में से तीन स्वर्ण पदक अपने नाम किये। इससे ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में उसके आठ स्वर्ण, तीन रजत और एक कांस्य पदक हो गये हैं।
सुदेशना शिवांकर ने बालिका 200 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता।

इसे भी पढ़ें: Evening News Brief: बंगाल दौरे पर नड्डा, कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना, गेम खेलने से रोका तो बेटे ने मां को मारी गोली

उन्होंने स्वर्ण पदक की हैट्रिक लगायी, इससे पहले वह 100 मीटर और फिर चार गुणा 100 मीटर रिले में पहला स्थान हासिल कर चुकी हैं।
राज्य के अर्जुन वास्काले ने अपना दूसरा स्वर्ण लड़कों की 3000 मीटर स्पर्धा में हासिल किया।
तमिलनाडु के प्रदीप सेंथिलकुमार ने 800 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया।
तैराकी में आन्या वाला और अपेक्षा फर्नांडीज ने क्रमश: 400 मीटर फ्रीस्टाइल और 100 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धा में पहले स्थान हासिल किये।
पंजाब लड़कों के हॉकी फाइनल में उत्तर प्रदेश से भिड़ेगा। पंजाब ने सेमीफाइनल में झारखंड को 3-0 से जबकि उत्तर प्रदेश ने ओडिशा को 3-2 से शिकस्त दी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here