कानपुर : राष्ट्रपति रामनाथ कोविद शुक्रवार को कानपुर देहात जिले में स्थित अपने पैतृक गांव परौंख आ रहे हैं जहां वह अपने सगे संबंधियों के साथ कुछ समय बितायेंगे। उधर यूपी इन्वेस्टर समिट में भाग लेने आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी पहली बार राष्ट्रपति से मिलने परौंख पहुंचेंगे। देश की दो महान हस्तियों के एक साथ कानपुर आने पर लोगों के बीच उत्साह का माहौल है।

आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि प्रधानमंत्री आज सुबह 11 बजे इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचेंगे और यूपी इंवेस्टर समिट की तीसरी ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी में हिस्सा लेंगे। सेरेमनी के उदघाटन सत्र में भाग लेने के बाद श्री मोदी कानपुर देहात के परौंख गांव के लिये रवाना हो जायेंगे और दोपहर करीब पौने दो बजे वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविद के साथ पथरी माता मंदिर के दर्शन करेंगे।

श्री मोदी करीब दो बजे डा बीआर अंबेडकर भवन जायेंगे जिसके बाद वह राष्ट्रपति के पैतृक निवास ‘मिलन केन्द्र पहुंचेंगे। राष्ट्रपति ने यह केन्द्र जनता को समर्पित कर दिया है और इसे सामुदायिक केन्द्र के तौर पर परिवर्तित कर दिया गया है। श्री मोदी दोपहर ढाई बजे परौंख गांव में एक सार्वजनिक समारोह को संबोधित करेंगे। इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आगमन के मद्देनजर सुरक्षा के लिहाज से परौंख अभेद किले के रूप में तब्दील कर दिया गया है। गांव से लेकर मंदिर व हर एक गली एसपीजी की निगरानी में है और वही राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए कमिश्नरी पुलिस ने त्रिस्तरीय सुरक्षा का इंतजाम किया है और सुरक्षा की ­ष्टि से परौंख व आसपास के स्थानों को छह जोन में बांटा गया है। तीन हजार से अधिक पुलिस कर्मी राष्ट्रपति की सुरक्षा में चप्पे-चप्पे पर तैनात किया गया है। और चप्पे-चप्पे पर एसपीजी की नजर है साथ ही साथ पल-पल की एसपीजी के अधिकारी पुलिस के संपर्क में हैं और सुरक्षा को लेकर लगातार दिशा निर्देश देते हुए नजर आ रहे हैं।

राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को करीब से देखने की उत्सुकता इतनी है कि गांव की बहन-बेटियां,रिश्तेदार खुद को रोक नहीं पा रहे हैं और गांव पहुंचने का सिलसिला जारी है जिसके चलते सुरक्षा एजेंसियां व पुलिस प्रशासन बेहद सख्त हो गया है।सुरक्षा की ­ष्टि से परौंख गांव के सभी मार्गों को बंद करके आवागमन के लिए केवल दो मुख्य मार्गों को ही खुला रखा गया है। उनमें भी बैरीकेडिग के साथ सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरूवार शाम यहां आकर सुरक्षा तैयारियों का जायजा ले चुके हैं। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सुरक्षा से लेकर किसी भी प्रकार की खामियां नहीं होनी चाहिये। राष्ट्रपति पद संभालने के बाद यह दूसरा मौका है जब रामनाथ कोविद परौंख आ रहे हैं।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.