लखनऊ | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को यहां तीसरे उत्तर प्रदेश निवेशक सम्मेलन की ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी में राज्य में 80,000करोड़ रुपये से अधिक की 1,4०6 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इन परियोजनाओं में कृषि और संबद्ध क्षेत्र, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स, एमएसएमई, विनिर्माण, अक्षय ऊर्ज़ा, फार्मा, पर्यटन, रक्षा एवं एयरोस्पेस, हथकरघा तथा कपड़ा आदि जैसे विविध क्षेत्र शामिल हैं। इस समारोह में देश के उद्योग जगत के दिग्गज शामिल हुए, जिसमें अडाणी समूह के गौतम अडानी, आदित्य बिड़ला समूह के कुमार मंगलम बिड़ला, हीरानंदानी समूह के निरंजन हीरानंदानी शामिल थे। गौरतलब है कि 21-22 फरवरी, 2018 को उत्तर प्रदेश निवेश सम्मेलन 2018 का आयोजन किया गया था, जबकि पहला ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी 29 जुलाई 2018 को और दूसरा ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी 28 जुलाई 2019 को आयोजित किया गया था।

पहले ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी के दौरान 61,500करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया था और दूसरे ग्राउंड ब्रेकिग समारोह में 67,000करोड़ रुपये से अधिक लागत वाली 290परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।
प्रधानमंत्री कार्यालय द्बारा किए गये ट्विट में बताया गया कि इससे पहले मोदी के लखनऊ पहुंचने पर हवाई अडडे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिह, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया।मोदी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि पिछले पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश ने राज्य में रिकॉर्ड निवेश आकर्षित करने के कई प्रयास किए हैं। ये निवेश विविध क्षेत्रों को कवर करते हैं। राज्य में अच्छा कारोबारी माहौल निवेशकों और स्थानीय युवाओं दोनों के लिए शुभ संकेत है।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.