नोम पेन्ह : कंबोडिया में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की प्रतिनिधि ली ऐलाना ने बुधवार को कहा कि तम्बाकू से संबंधित बीमारियों से कंबोडिया में हर साल 15 हजार से ज्यादा लोगों की मौत होती है तथा यहां के पर्यावरण पर तंबाकू उद्योग का हानिकारक प्रभाव बढè रहा है।

सुश्ली ली ने सोशल मीडिया पर लिखा कि तम्बाकू से दुनियाभर में हर वर्ष 80 लाख लोगों की मौत हो जाती है, जिसमें से 15 हजार से ज्यादा लोग कंबोडिया के निवासी होते हैं। डब्ल्यूएचओ ने 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर जारी विज्ञप्ति में कहा कि धूम्रपान मुक्त वातावरण कंबोडिया में पर्यटन को बढ़ावा देता है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में लगभग 16.80 लाख लोग तंबाकू का सेवन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.