पुणे (महाराष्ट्र) | महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया है कि उनके नेतृत्व वाली पिछली सरकार के प्रयासों के कारण राज्य में बैलगाड़ी दौड़ फिर से शुरू हुई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता फडणवीस मंगलवार को पुणे जिले के पिपरी चिचवाड़ इलाके में आयोजित बैलगाड़ी दौड़ में शामिल हुए। उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल दिसंबर में महाराष्ट्र में बैलगाड़ी दौड़ को फिर से शुरू करने की अनुमति दी थी, जो 2017 से राज्य में प्रतिबंधित थी।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने तब इसे ”किसानों की जीत बताते हुए कहा था कि इस कदम से पशुधन की रक्षा करने में मदद मिलेगी। पुणे में मंगलवार को कार्यक्रम के बाद फडणवीस ने पत्रकारों से कहा कि वह यहां सबसे बड़ी बैलगाड़ी दौड़ में से एक को देखकर खुश हैं। फडणवीस ने दावा किया, ” पुणे के भोसरी से भाजपा विधायक महेश लांडगे के नेतृत्व में अखिल भारतीय बैलगाड़ी दौड़ संघ ने कड़ी मेहनत की… और तब हमारी सरकार ने इसके लिए कानून बनाए थे। हमने एक रिपोर्ट दी थी और उसके आधार पर उच्चतम न्यायालय ने बैलगाड़ी दौड़ की अनुमति दी थी।

उन्होंने महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन की घटक राष्ट्रवादीकांग्रेस पार्टी (राकांपा) पर भी निशाना साधा कि भाजपा विधान पार्षद गोपीचंद पडलकर को अहमदनगर जिले में मंगलवार को मराठा रानी अहिल्याबाई होलकर की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने से रोका गया। उन्होंने दावा किया, ”राकांपा ने अहिल्याबाई होलकर की जयंती के उपलक्ष्य में मनाए जाने वाले कार्यक्रम को हथिया लिया और पडलकर को इसमें शामिल होने से रोक दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.