Doctor ‘s : केके की हृदय धमनियों में कई अवरोध थे, समय पर सीपीआर देने से बच सकती थी जान

0
22
Doctor ‘s : केके की हृदय धमनियों में कई अवरोध थे, समय पर सीपीआर देने से बच सकती थी जान

कोलकाता | बॉलीवुड के मशहूर गायक कृष्णकुमार कुन्नथ (केके) का पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी हृदय धमनियों में कई अवरोध (ब्लॉकेज) थे और समय पर सीपीआर दिया जाता, तो उनकी जान बच सकती थी।
सीपीआर (कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन) में बेहोश व्यक्ति की छाती पर दबाव दिया जाता है और कृत्रिम सांसें दी जाती हैं, जिससे फ़ेफड़ों को ऑक्सीजन मिलती रहे। इससे दिल का दौरा पड़ने और सांस न ले पाने जैसी स्थिति में व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है।

केके का मंगलवार रात दिल का दौरा पड़ने के बाद निधन हो गया था। इससे कुछ घंटे पहले ही उन्होंने कोलकाता के ‘नजरुल मंच पर आयोजित एक कार्यक्रम में प्रस्तुति दी थी। चिकित्सक ने नाम उजागर न करने की शर्त पर ‘पीटीआई-भाषा को बताया, ” उनकी (केके की) बाईं मुख्य कोरोनरी धमनी में एक बड़ा अवरोध और विभिन्न अन्य धमनियों तथा उप-धमनियों में छोटे अवरोध थे। जनता के सामने प्रस्तुति के दौरान अत्यधिक उत्तेजना के कारण रक्त प्रवाह रुक गया, जिससे उनकी हृदय गति रुक गई और उनका निधन हो गया। चिकित्सक ने कहा कि गायक के बेहोश होते ही उन्हें सीपीआर दिया जाता, तो उनकी जान बच सकती थी।

उन्होंने कहा कि गायक को लंबे समय से हृदय संबंधी समस्याएं थीं, जिनका कोई इलाज नहीं हुआ था। चिकित्सक ने कहा, ”गायक की बाईं मुख्य कोरोनरी धमनी में 8० प्रतिशत अवरोध और विभिन्न अन्य धमनियों तथा उप-धमनियों में छोटे अवरोध थे। कोई भी धमनी पूरी तरह बंद नहीं थी। उन्होंने कहा, ”मंगलवार को प्रस्तुति के दौरान, गायक मंच पर घूम रहे थे और कई बार भीड़ के साथ नाच भी रहे थे, जिससे अत्यधिक उत्तेजना पैदा हुई और रक्त प्रवाह रुक गया। इससे उनकी हृदय गति रुक गई।
चिकित्सक ने कहा कि अत्यधिक उत्तेजना से कुछ क्षणों के लिए रक्त प्रवाह रुक गया, जिससे कुछ समय के लिए दिल की धड़कन अनियमित हो गई।

उन्होंने कहा, ”इस वजह से केके बेहोश हो गए और उनकी दिल की गति रुक गई। अगर उन्हें तुरंत सीपीआर दिया गया होता, तो उनकी जान बच सकती थी। चिकित्सक ने कहा कि पोस्टमार्टम में सामने आया है कि गायक ‘एंटासिड ले रहे थे, ”शायद उन्हें दर्द होता होगा और उन्होंने उसे पाचन संबंधी समस्या समझ लिया। ‘एंटासिड ऐसी दवाएं होती हैं, जो अपच और सीने की जलन को दूर करने के लिए ली जाती हैं। कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि केके की पत्नी ने गायक के ‘एंटासिड लेने की पुष्टि की है। आईपीएस अधिकारी ने कहा, ”गायक ने अपनी पत्नी से फोन पर हुई बातचीत के दौरान बताया था कि उनके हाथ और कंधे में दर्द है।

पुलिस को केके के होटल के कमरे से भी कई ‘एंटासिड गोलियां मिली हैं। गायक के शव का पोस्टमार्टम करने में करीब डेढ़ घंटे का समय लगा और उसकी वीडियो भी बनाई गई है। इसमें सामने आया है कि तीन घंटे तक प्रस्तुति देने के बाद दिल का दौरा पड़ने से गायक की मौत हुई। उनकी मौत के पीछे कोई साजिश नहीं थी। पुलिस ने अस्वाभाविक मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।
केके ने अपने करियर में कई हिट गीत दिए। ‘यारों, ‘तड़प तड़प के, ‘बस एक पल, ‘आंखों में तेरी, ‘कोई कहे, ‘इट्स द टाइम टू डिस्को आदि केके के मशहूर गीतों में शुमार हैं। उन्होंने हिदी, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम, मराठी और बांग्ला समेत कई भाषाओं के गीत भी गाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here