लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2022-23 का पहला बजट पेश किया. राज्य के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने आज विधानसभा में 6 लाख 15 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया. बजट में राज्य की सुरक्षा व्यवस्था, महिला सुरक्षा, रोजगार, कृषि समेत सभी क्षेत्रों पर फोकस किया गया है. खन्ना ने कहा कि यह बजट राज्य के लोगों की चिकित्सा और स्वास्थ्य और शिक्षा पर भी केंद्रित है। सुरेश खन्ना ने आगे कहा कि चुनाव से पहले संकल्प पत्र में किए गए वादों को पूरा करने का प्रयास किया गया है.

 

Koo App

आज विधान सभा में प्रस्तुत हुआ बजट प्रदेश की 25 करोड़ जनता की आकांक्षाओं व भावनाओं के अनुरूप है। यह बजट आदरणीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश के समग्र विकास को ध्यान में रखते हुए गांव, गरीब, किसान, नौजवान व महिलाओं समेत समाज के हर तबके के हितों की पूर्ति हेतु बनाया गया है।Yogi Adityanath (@myogiadityanath) 26 May 2022

 

वहीं, यूपी के सीएम योगी ने बजट पेश होने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, ‘बजट गांव, गरीब, किसान, युवा और महिलाओं समेत समाज के हर वर्ग को ध्यान में रखकर बनाया गया है. उन्होंने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी की ओर से लोक कल्याण पत्र जारी किया गया था. इसमें 130 घोषणाएं की गईं, जिनमें से 97 प्रस्तावों को इस बजट में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के लिए बजट में 54 हजार 583 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं.

 

सीएम योगी ने कहा कि, ‘हमारी सरकार ने आज साल 2022-23 का बजट पेश किया है. यह बजट राज्य के 25 करोड़ लोगों की आकांक्षाओं की भावना के अनुरूप राज्य, गांवों, गरीबों, किसानों, युवाओं, महिलाओं, मजदूरों और समाज के हर वर्ग के समग्र विकास को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है. इस दृष्टि से यह बजट अगले 5 वर्षों के लिए भी एक विजन है, जो राज्य के समावेशी, समग्र विकास के साथ-साथ उज्ज्वल भविष्य का खाका तैयार करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.