जकार्ता | गत चैम्पियन भारतीय टीम सुपर 4 चरण के आखिरी राउंड रॉबिन लीग मैच में दक्षिण कोरिया को हराकर एशिया कप पुरूष हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने के इरादे से उतरेगी । भारत ने रविवार को मलेशिया के खिलाफ मुकाबले में जीत की ओर कदम रख ही दिया था लेकिन रजी रहीम ने हैट्रिक लगाकर भारत को 3 . 3 से ड्रॉ पर रोक दिया । भारत ने पहले मैच में शनिवार को जापान को 2 . 1 से हराया था ।

सुपर 4 अंकतालिका में कोरिया प्लस दो के गोल अंतर के साथ शीर्ष पर है जबकि भारत प्लस एक के गोल अंतर के साथ दूसरे स्थान पर है । दो मैच हारने के बाद जापान दौड़ से बाहर है जबकि मलेशिया अगर जापान को न्यूनतम दो गोल से हरा देता है तो उसके पास मौका है बशर्ते भारत और दक्षिण कोरिया का मैच ड्रॉ रहे । भारतीय टीम के इरादे कोरिया को हराकर अगर मगर के फ़ेर से बचने के होंगे ।

वैसे यह चुनौती उतनी आसान भी नहीं है । सुपर 4 चरण में कोरिया ने मलेशिया को 2 . 2 से ड्रॉ पर रोका और जापान को 3 . 1 से हराया है । भारत ने भी पहले दो पूल मैचों के बाद अपने खेल में काफी सुधार किया है । मेजबान इंडोनेशिया को 15 गोल के अंतर से हराने के असंभव लक्ष्य को हासिल करके सुपर 4 में जगह बनाई । इसके बाद जापान को 2 . 1 से हराया जिसके हाथों प्रारंभिक चरण में 2 . 5 से पराजय मिली थी ।

मलेशिया के खिलाफ रविवार को भारत ने दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी करके 3 . 2 से बढत बनाई लेकिन रहीम ने आखिरी पलों में पेनल्टी कॉर्नर पर मलेशिया के लिये बराबरी का गोल कर दिया । भारतीय फॉरवर्ड पंक्ति में उत्तम सिह, एस वी सुनील और पवन राजभर ने प्रभावी प्रदर्शन किया । सुनील ने पिछले मैच में राजभर के पास पर गोल दागा था । भारतीयों ने कई मौके बनाये लेकिन स्ट्राइकर उन्हें गोल में बदल नहीं सके । मुख्य कोच सरदार सिह इसमें सुधार करना चाहेंगे । बीरेंद्र लाकड़ा की अगुवाई में रक्षापंक्ति से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है जिसने मलेशिया के खिलाफ कई पेनल्टी कॉर्नर गंवाये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.