भोपाल | मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान ने स्वातंत्र्यवीर विनायक दामोदर सावरकर की जयंती पर उन्हें नमन किया है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज अपने निवास कार्यालय सभागार में विनायक दामोदर सावरकर के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। श्री चौहान ने कहा कि मां भारती की परतंत्रता की बेड़यिों को तोड़ने के लिए सेल्यूलर जेल के अंधेरों और यातनाओं का वरण करने वाले मां भारती के सपूत वीर सावरकर का मानना था कि मातृभूमि के लिए जीना और मर जाना ही जीवन की सार्थकता है।

उन्होंने कहा कि वीर सावरकर भारत के महान क्रांतिकारी, स्वतंत्रता सेनानी, इतिहासकार, राष्ट्रवादी नेता तथा विचारक थे। उन्हें प्राय: स्वातन्त्र्यवीर, वीर सावरकर के नाम से सम्बोधित किया जाता है। वीर सावरकर का जन्म 28 मई 1883 को महाराष्ट्र में नासिक के निकट भागुर गाँव में हुआ था। उन्होंने अभिनव भारत सोसायटी नामक क्रान्तिकारी संगठन की स्थापना की। वीर सावरकर अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। वीर सावरकर को नासिक केस में कालापानी की सजा देकर सेल्यूलर जेल भेज दिया गया। वीर सावरकर ने जेल में दस वर्ष की लम्बी अवधि तक

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.