नई दिल्ली | भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को केन्द्र में भाजपा सरकार के आठ वर्ष पूरे होने पर बधाई देते हुए आज कहा कि श्री मोदी ने सत्ता को सेवा का माध्यम मानकर किसानों, गरीबों एवं वंचितों को अधिकार दिला कर लोकतंत्र में उनका विश्वास जगाने में कामयाब रहे हैं। श्री शाह ने यहां सिलसिलेवार ढंग सेट्वीट करके कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने सत्ता को सेवा का माध्यम मानकर गरीबों, किसानों, महिलाओं व वंचितों को उनके अधिकार दिए जिससे लोकतंत्र में उनका विश्वास जगा और वो देश की विकास यात्रा में सहभागी बने। अनेकों ऐतिहासिक उपलब्धियों से परिपूर्ण इन 8 वर्षों की सभी देशवासियों को बधाई।

उन्होंने कहा कि गत 8 सालों में श्री मोदी देश??के हर नागरिक के सपनों व आकांक्षाओं को पंख देकर उनमें नया आत्मविश्वास जगाया है। मोदी जी ने अपने सक्षम नेतृत्व व ­ढ इच्छाशक्ति से न सिर्फ देश को सुरक्षित किया बल्कि कई ऐसे निर्णय लिए जिससे हर देशवासी का सिर गर्व से ऊँचा उठा। उन्होंने कहा कि श्री मोदी के रूप में आज भारत के पास एक ऐसा नेतृत्व है जिसपर हर वर्ग को विश्वास भी है और गौरव भी। अपने अथक परिश्रम से जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना इस विश्वास का मजबूत स्तंभ है। 130करोड़ भारतीयों के विश्वास की ये शक्ति आज देश को हर क्षेत्र में आगे ले जा रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि टेक्नोलॉजी हो या खेल, स्वास्थ्य हो या रक्षा, विकास हो या गरीब कल्याण आज श्री मोदी के नेतृत्व वाले भारत की हर नीति और हर उपलब्धि पूरे विश्व के लिए एक उदाहरण है। एक सक्षम नेतृत्व से भारत कैसे आपदा को अवसर में बदलता है, ये नये भारत ने पूरे विश्व को दिखाया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर हो या उत्तरपूर्व या वामपंथी उग्रवाद प्रभावित चुनौतीपूर्ण क्षेत्र जिनकी ओर दशकों तक किसी ने देखने का भी साहस नहीं किया था,वहाँ श्री मोदी ने अपनी नेतृत्वशक्ति व दूरदर्शिता से विकास और शांति का नया अध्याय लिखा है। आज ये क्षेत्र पूरे देश के साथ कदम मिलाकर आगे बढरहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के आत्मनिर्भर भारत का संकल्प देश को हर क्षेत्र में अग्रणी बनाने की नींव रख रहा है। इस संकल्प को सिद्ध करना हम सभी देशवासियों की जिम्मेदारी भी है और कर्तव्य भी, जिससे हम आने वाली पीढको एक सशक्त और आत्मनिर्भर भारत दे पाएँ।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.