लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा गैलरी के सौंदर्यीकरण कार्यों और ई-विधान का लोकार्पण किया. इसके साथ ही अब विधानसभा की कार्यवाही के पेपरलेस होने का रास्ता खुल गया है। इसे पर्यावरण संरक्षण की दिशा में योगी सरकार का एक बड़ा कदम माना जा रहा है. ई-विधान के माध्यम से यूपी विधानसभा की कार्यवाही ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। प्रत्येक विधायक की सीट के सामने टेबल पर सिस्टम लगाया गया है। पहले सत्र से ही सदन का बदला हुआ नजारा दिखने लगेगा।

विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और वित्त और संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना भी आज ई-विधान के शुभारंभ के दौरान उपस्थित थे। पिछले दिनों विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने इस संबंध में जानकारी दी थी। उन्होंने इस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक भी बुलाई थी। नई व्यवस्था लागू होने के बाद राज्य विधानसभा हाईटेक और डिजिटल हो जाएगी। इससे न सिर्फ विधानसभा के सभी विभाग आपस में जुड़ सकेंगे, बल्कि सोशल मीडिया पर भी काम करेंगे।

विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने कहा था कि अगर भारत की सभी विधानसभाओं को एक ही पोर्टल से जोड़ा जाएगा तो सभी एजेंडा, नोटिस, सवाल और जवाब इस पर होंगे. साथ ही इस पर बिल भी दिखाए जाएंगे। अब तक अगर कोई सवाल पूछता था तो उसे पहले हर सवाल संबंधित विभाग को भेजना होता था और उसके बाद ही उसका जवाब आता था। ई-विधान व्यवस्था लागू होने के बाद यह समस्या खत्म हो जाएगी। बता दें कि यूपी ई-विधान प्रणाली से चलने वाली देश की पहली विधानसभा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.