जम्मू : जम्मू-कश्मीर की राज्य अन्वेषण एजेंसी (एसआईए) ने शुक्रवार को आतंकवाद के वित्त पोषण से जुड़े एक मामले में यहां एक अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस मामले में आतंकवादियों के तीन साथियों को पिछले साल सिधरा पुल इलाके से गिरफ्तार किया गया था और उनके पास से 43 लाख रुपये की नकदी बरामद की गई थी।

अधिकारियों के मुताबिक, गिरफ्तार लोगों से बरामद पैसा पंजाब से दक्षिण कश्मीर लाया जा रहा था। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पिछले साल इस मामले की जांच एसआईए को सौंप दी थी। एक अधिकारी ने कहा, ”राज्य अन्वेषण एजेंसी ने शुक्रवार को अदालत में आतंकवाद के वित्त पोषण मामले में एक आरोपपत्र दाखिल किया। मामले की जानकारियों के अनुसार, पंजाब से दक्षिण कश्मीर में नकदी की एक खेप लाई जा रही थी, जिसकी सूचनी मिलने पर एक विशेष दल गठित किया गया।

जानकारी के मुताबिक, विशेष दल ने पिछले साल 17 नवंबर को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा इलाके में सिधरा पुल पर एक जांच चौकी बनाई और एक वाहन को रोका। अधिकारियों ने बताया कि वाहन में सवार यात्रियों से उनकी गतिविधियों को लेकर पूछताछ की गई, लेकिन वे संतोषजनक जवाब नहीं दे सके, जिसके बाद वाहन की सघन तलाशी में दो बैग मिले, जिसमें 43 लाख रुपये की नकदी मौजूद थी।

अधिकारियों के अनुसार, आरोपियों से और पूछताछ करने पर पता चला कि यह पैसा प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) की आतंकी गतिविधियों के वित्त पोषण के लिए पंजाब से दक्षिण कश्मीर ले जाया जा रहा था। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी सीमा पार अपने आकाओं और दक्षिण कश्मीर में आतंकवादियों के लगातार संपर्क में थे।

.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.