सहरसा : सदर थाना क्षेत्र और बैजनाथपुर ओपी क्षेत्र के बीच रामपुर पुल के निकट बुधवार की देर रात गोली लगा हुआ निजी स्कूल संचालक 35 वर्षीय दिनेश यादव का शव बरामद हुआ। फिर देर रात ही पुलिस द्वारा बरामद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। जिसके बाद उनके परिजन को सुपुर्द कर दिया गया। मृतक के शव पर एक गोली लगने के निशान दिखाई पड़ रहे थे। वही उनके मुंह से झाग भी निकल रहा था। ऐसे में उनकी हत्या को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।
कहां का था स्कूल संचालक –
स्थानीय मत्स्यगंधा स्थित डेवलपमेंट पब्लिक स्कूल के संचालक दिनेश यादव मूलतः सुपौल जिला के छातापुर थाना क्षेत्र के छातापुर गांव का रहने वाला था। लेकिन वे बीते कई सालों से सहरसा में रहकर निजी पब्लिक स्कूल चलाते थे। उनकी शादी मधेपुरा जिले के घैलाढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत पथराहा गांव में हुई थी।
कैसे हुई घटना –
वे बुधवार की दोपहर पत्नी और दोनों बेटे को लेकर ससुराल पहुंचे थे। जहां से देर शाम 7 बजे पत्नी और बच्चों को छोड़कर अकेले वापस बाइक से सहरसा वापस लौट रहे थे। जिसके बाद देर रात उनका शव बरामद हुआ।
क्या कहते हैं पीड़ित के परिजन –
मृतक के साला आनंद कुमार ने बताया कि थाना से कॉल किया गया कि उनके बहनोई के साथ घटना हुई है। मौके पर पहुंचे तो देखा कि उनके शरीर पर गोली लगी हुई है। वे पथराहा से सहरसा के लिए निकले थे। अकेले घर से निकले थे। किसी से उनकी कोई दुश्मनी नहीं थी। वे पहले बटराहा मोहल्ले में स्कूल चलाते थे। कुछ दिन पूर्व उन्होंने मत्स्यगंधा इलाके में स्कूल चलाना प्रारंभ किया था। घटना के किसी भी कारण के बारे में वे कुछ भी बताने इंकार कर रहे थे।


क्या कहा सदर थाना अध्यक्ष –
सदर थाना अध्यक्ष सुधाकर कुमार ने बताया कि स्कूल संचालक का शव बरामद होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंचकर शव को बरामद किया गया। मृतक के मुंह से झाग निकल रहा था। साथ ही जहां उनकी शव बरामद हुई है। वहां उनकी हत्या नहीं की गई थी। कहीं और उनकी हत्या हुई है। उसके बाद शव को वहां तक लाया गया था। गोली के भी निशान दिख रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.