विधानसभा चुनाव के बाद बिहार की पॉलिटिक्स में उथल-पुथल देखने को मिल रही है अब सभी को पता ही होगा कि कुछ दिनों पहले ऐसी खबर सामने आई थी कि शरद यादव तेजस्वी यादव को राजनीतिक विरासत सौंप सकते हैं और उनकी पार्टी का RJD में विलय कर सकते हैं जैसा सोचा था वैसा ही हुआ . दरअसल बिहार की राजनीति के पुरोधा रहे शरद यादव ने आज अपनी पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल का विलय राष्ट्रीय जनता दल में कर दिया है।

राजनीति सौंपी विरासत में

बिहार पॉलिटिक्स की जानी-मानी शख्सियत शरद यादव ने आज अपनी राजनीतिक विरासत को तेजस्वी यादव को सौंप दिया। इस मौके पर उन्होने कहा कि बिहार का भविष्य तेजस्वी यादव हैं। रविवार को इस कार्यक्रम में शरद यादव के अलावा पार्टी के तमाम बड़े नेता मौजूद थे।

बीजेपी को हराना है तो विपक्ष होना जरूरी

इस मौके पर शरद यादव ने कहा कि ये एक नई शुरुआत है। ;इसमे हमने अपनी पहल कर दी है,पूरे देश के विपक्ष तो एक होकर ही बीजेपी को हराया जा सकता है।

शरद यादव का कदम राज्यसभा की ओर

ऐसी भी खबरें सामने आ रही है कि जल्द ही इस बात की घोषणा हो सकती है,कि जेडीयू अपने कोटे से शरद यादव को राज्यसभा भेजेगी। खबरों के मुताबिक इसमे 2 सीट आरजेडी के खाते में भी जाएगी। वहीं शरद यादव के राज्यसभा का कार्यकाल जुलाई 2022 में ही समाप्त हो रहा था.

.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.