गिरीडीह। जमुआ प्रखंड बीस सूत्री कार्यक्रम एवं क्रियान्वयन समिति के प्रखंड अध्यक्ष सह युवा काँग्रेस नेता मो जुनैद आलम ने लोकसभा में पेश हुए आम बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देश के वेतनभोगी वर्ग, मध्यम वर्गीय परिवार, कोरोना महामारी, कमर तोड महंगाई से राहत की उम्मीद कर रहा था, लेकिन इन्हें निराशा हाथ लेगी। इन सबों के साथ विश्वासघात किया गया। जुनैद आलम ने कहा कि इस आम बजट से झारखंड को काफी उम्मीदें थी। लेकिन झारखंड को इस आम बजट में कोई विशेष महत्व नहीं देना यह दशार्ता है कि केन्द्र सरकार के लिए झारखंड कोई महत्व नहीं रखता। जुनैद आलम ने कहा कि यह बजट हर पायदान पर औंधे मुंह गिरा है।

जुनैद आलम ने कहा कि केन्द्र सरकार ह्यह्यकहां तो वादा किसानों की आय दोगुनी करने का थाह्णह्ण और कहां यह बजट कोरपोरेट साथियों की आय चौगुनी कर गया। मध्य वर्ग को यह उम्मीद थी कि आयकर के स्लैब में कुछ राहत मिलेगी और 80 सी का दायरा भी बढ़ाया जाएगा। लेकिन इसमें भी निराशा ही हाथ लगी। मनरेगा जैसे योजनाओ के बजट में कटौती करना। इस बजट को गरीब विरोधी बजट साबित करता है। इस बजट से नॉजवानो के लिए भी कोई खास लाभ नहीं मिलता दिख रहा है। इसलिए ये बजट सिर्फ और सिर्फ मित्रों का बजट बनकर रह गया है। जनता बजट से हताश व निराश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.