बोकारो। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर देशभक्त नागरिक मंच बोकारो की ओर से साड़म में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम उपस्थित लोगों ने एक मिनट का मौन रखा और पुष्प अर्पित कर बापू को श्रद्धांजलि दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता ठीकेदार मजदूर यूनियन तेनुघाट थर्मल के उप महासचिव समीर कुमार हालदार ने किया। श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य कार्य समिति के सदस्य एवं झारखंड आंदोलनकारी इफ्तेखार महमूद ने कहा कि गांधीजी मुसलमानों के पक्षधर नहीं, बल्कि देशवासियों के बीच भाईचारा के पक्षधर और हिंदू- मुस्लिम दंगा के विरोधी थे। उन्होंने कहा कि गांधीजी के निरंतर हस्तक्षेप के कारण दंगाइयों को हिंदू मुस्लिम के बीच दंगा करवाने में रुकावट उत्पन्न हो जा रही थी। इसी रुकावट को हटाने के लिए गांधीजी की हत्या कर दी गई।

तेनुघाट महाविद्यालय की छात्रा दीया कुमारी ने कहा कि गांधी जी के हत्या के पक्षधर लोग यदि देशभक्त होते तो वह गांधी जी का नहीं बल्कि मोहम्मद अली जिन्ना की हत्या किये होते। आदिवासी महासभा के जिला महासचिव सोमर मांझी ने कहा कि गांधीजी का आलोचना करने वाले मयार्दा पुरुषोत्तम राम का भक्त नहीं हो सकते हैं। इस अवसर पर किसान सभा के मौजी लाल महतो, तंजीम ए इंसाफ के खुर्शीद आलम महिला समाज के नेत्री सकीला बानो, मालती देवी (पूर्व मुखिया), रंजू देवी तथा गेंदों केवट, मनोज तूरी ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.